सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंचने के बाद 416 अंक गिरा सेंसेक्स

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 20, 2020   17:20
सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंचने के बाद 416 अंक गिरा सेंसेक्स

इसी तरह एनएसई का निफ्टी भी 127.80 अंक यानी 1.03 प्रतिशत गिरकर 12,224.55 अंक पर बंद हुआ। एक समय यह 12,430.50 अंक के अब तक के शीर्ष स्तर पर था। सेंसेक्स की कंपनियों में कोटक महिंद्रा बैंक में सर्वाधिक 4.70 प्रतिशत की गिरावट रही।

मुंबई। रिलायंस इंडस्ट्रीज, कोटक महिंद्रा बैंक, एचडीएफसी बैंक और टीसीएस जैसी बड़ी कंपनियों के शेयरों में तिमाही परिणाम के बाद हुई जबरदस्त बिकवाली के चलते सोमवार को एक समय सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच जाने के बाद सेंसेक्स 416 अंक नीचे आ गया। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक ‘सेंसेक्स’ कारोबार के दौरान 42,273.87 अंक के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया था। हालांकि, बाद में इसने तेजी खो दी और 416.46 अंक यानी 0.99 प्रतिशत गिरकर 41,528.91 अंक पर बंद हुआ।

इसी तरह एनएसई का निफ्टी भी 127.80 अंक यानी 1.03 प्रतिशत गिरकर 12,224.55 अंक पर बंद हुआ। एक समय यह 12,430.50 अंक के अब तक के शीर्ष स्तर पर था। सेंसेक्स की कंपनियों में कोटक महिंद्रा बैंक में सर्वाधिक 4.70 प्रतिशत की गिरावट रही। बैंक ने सोमवार को जारी परिणाम में बताया कि तीसरी तिमाही में उसकी गैर-निष्पादित संपत्तियां बढ़ी हैं। रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी बैंक और टीसीएस के शेयर भी 3.08 प्रतिशत तक की गिरावट में रहे। इन तीनों कंपनियों ने शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद तीसरी तिमाही के परिणाम जारी किये थे। हालांकि, पावरग्रिड कॉरपोरेशन में 3.75 प्रतिशत तक की तेजी रही। भारती एयरटेल, आईटीसी, एशियन पेंट्स, आईसीआईसीआई बैंक और एलएंडटी के शेयर भी बढ़त में रहे।

इसे भी पढ़ें: शुरुआती कारोबार में नये सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंचे सेंसेक्स, निफ्टी

कारोबारियों ने कहा कि विशेष कंपनियों के साथ ही शेयर बाजार के रिकॉर्ड स्तर पर होने के कारण निवेशकों द्वारा मुनाफावसूली की गयी। एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट, जापान का निक्की और दक्षिण कोरिया का कोस्पी बढ़त में रहा। हालांकि, हांगकांग का हैंगसेंग गिरावट में बंद हुआ। यूरोपीय बाजार शुरुआती कारोबार में गिरावट में चल रहे थे। इस बीच ब्रेंट क्रूड का वायदा 0.66 प्रतिशत की बढ़त के साथ 65.28 डॉलर पर चल रहा था। लीबिया में सशस्त्र बलों द्वारा एक पाइपलाइन को बंद कर देने से निर्यात बाधित हुआ। इसके अलावा इराक के एक महत्वपूर्ण तेल क्षेत्र में हड़ताल के कारण उत्पादन प्रभावित चल रहा है। रुपया पांच पैसे गिरकर 71.13 रुपये प्रति डॉलर पर चल रहा था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।