शुरुआती गिरावट से उबरा बाजार, सेंसेक्स 164 अंक चढ़ा, निफ्टी 11,000 अंक पर

sensex-rises-164-points-nifty-rises-11-000-points-after-initial-fall
सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने पिछले सप्ताह वाहन क्षेत्र को सरकार की ओर से पूरे समर्थन का भरोसा दिलाया था। उन्होंने कहा था कि वहवाहनों पर माल एवं सेवा कर (जीएसटी) कटौती का मुद्दा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ उठाएंगे।

मुंबई। वित्तीय और वाहन कंपनियों के शेयरों में बढ़त से शेयर बाजार सोमवार को शुरुआती नुकसान से उबर गए और लाभ में बंद हुए। बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स जहां 164 अंक चढ़ गया वहीं निफ्टी भी 11,000 अंक के पार बंद हुआ। सरकार ने अर्थव्यवस्था को सुस्ती से उबारने के लिए कदम उठाने का भरोसा दिलाया। इससे अस्थायी रूप से निवेशकों की बेचैनी कम हुई है। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स गिरावट के रुख के साथ खुला। एक समय यह 36,784.47 अंक के निचले स्तर तक गया। हालांकि, बाद में यह अपने निचले स्तर से 460 अंक उबरते हुए अंत में 163.68 अंक या 0.44 प्रतिशत की बढ़त के साथ 37,145.45 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 37,244.08 अंक के उच्चस्तर तक भी गया। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 56.85 अंक या 0.52 प्रतिशत की बढ़त के साथ 11,003.05 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान निफ्टी 11,028.85 से 10,889.80 अंक के दायरे में रहा। 

सकारात्मक वैश्विक घटनाक्रमों से भी निवेशकों की धारणा में सुधार हुआ है। विश्लेषकों का कहना है कि सरकार की ओर से और नीतिगत उपायों की उम्मीद में बाजार सकारात्मक रुख में कारोबार कर रहे हैं।  सेंसेक्स के 30 शेयरों में 20 लाभ में रहे जबकि 10 में गिरावट दर्ज हुई।  सेंसेक्स की कंपनियों में यस बैंक, मारुति, एलएंडटी, कोटक बैंक, भारती एयरटेल, बजाज फाइनेंस, एसबीआई, ओएनजीसी, एचडीएफसी और हीरो मोटोकॉर्प 4.47 प्रतिशत तक चढ़ गए। वहीं दूसरी ओर एचसीएल टेक, इन्फोसिस, टेकएम, बजाज आटो और टीसीएस में 1.50 प्रतिशत की गिरावट आई।  बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप में 0.97 प्रतिशत तक का लाभ रहा। शेयरखान बाय बीएनपी परिबाा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और पूंजी बाजार रणनीति प्रमुख गौरव दुआ ने कहा, ‘‘शेयर बाजारों में सुधार व्यापक रहा। एक शेयर में गिरावट पर दो शेयर चढ़ें। ज्यादातर खराब प्रदर्शन करने वाले क्षेत्रों और शेयरों में आज जोरदार तेजी दर्ज हुई। 

इसे भी पढ़ें: घर भी खरीदें, गाड़ी भी ले जाएं, SBI ने ब्याज दरों में की 5वीं बार कटौती

निवेशक सरकार की ओर से अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने के लिए और उपायों की उम्मीद कर रहे हैं।’’  सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने पिछले सप्ताह वाहन क्षेत्र को सरकार की ओर से पूरे समर्थन का भरोसा दिलाया था। उन्होंने कहा था कि वहवाहनों पर माल एवं सेवा कर (जीएसटी) कटौती का मुद्दा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ उठाएंगे। पिछले सप्ताह ही वित्त मंत्री ने कहा था कि सरकार आर्थिक वृद्धि को रफ्तार देने के लिए और उपाय करेगी।  इस बीच, निवेशकों को उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति और औद्योगिक उत्पादन (आईआईपी) के आंकड़ों का इंतजार है। ये आंकड़े 12 सितंबर को आने हैं।  अन्य एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कम्पोजिट, जापान का निक्की और दक्षिण कोरिया का कॉस्पी लाभ में रहे, जबकि हांगकांग के हैंगसेंग में नुकसान रहा। शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजारों में मिला जुला रुख था।  अंतर बैंक विदेशी विनिमय बाजार डॉलर के मुकाबले में रुपया एक पैसे की बढ़त के साथ 71.71 प्रति डॉलर पर बंद हुआ। ब्रेंट कच्चा तेल 0.80 प्रतिशत की बढ़त के साथ 62.03 डॉलर प्रति बैरल पर था। 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़