कोरोना काल में सुस्त रहा शेयर बाजार, 300 अंक लुढ़का सेंसेक्स

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 23, 2021   14:28
कोरोना काल में सुस्त रहा शेयर बाजार, 300 अंक लुढ़का सेंसेक्स

बीएसई का 30-कंपनी शेयरों पर आधारित सेंसेक्स कारोबार की शुरुआत में 316.81 अंक यानी 0.66 प्रतिशत गिरकर 47,763.86 अंक रहा।वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का व्यापक आधार वाला निफ्टी 75.45 अंक यानी 0.52 प्रतिशत गिरकर 14,330.70 अंक पर रहा।

मुंबई। बंबई शेयर बाजार (बीएसई) का संवेदी सूचकांक शुक्रवार को कारोबार के शुरुआती दौर में 300 अंक नीचे चला गया।कोविड- 19 महामारी की दूसरी लहर से आर्थिक क्षेत्र में आ रहे सुधार को झटका लगने की आशंका से निवेशकों की प्रमुख शेयरों में बिकवाली रही। बीएसई का 30-कंपनी शेयरों पर आधारित सेंसेक्स कारोबार की शुरुआत में 316.81 अंक यानी 0.66 प्रतिशत गिरकर 47,763.86 अंक रहा।वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का व्यापक आधार वाला निफ्टी 75.45 अंक यानी 0.52 प्रतिशत गिरकर 14,330.70 अंक पर रहा।

इसे भी पढ़ें: कौन है अतानु चक्रवर्ती, जिसे RBI ने नियुक्त किया HDFC Bank का अंशकालिक चेयरमैन

सेंसेक्स में शामिल शेयरों में आईसीआईसीआई बैंक में सबसे ज्यादा करीब 2 प्रतिशत की गिरावट रही। इसके साथ ही एचडीएफसी बैंक और एचडीएफसी, बजाज फाइनेंस, हिन्दुस्तान यूनिलीवर, स्टेट बैंक, महिन्द्रा एण्ड महिन्द्रा और कोटक बैंक में भी गिरावट रही। इसके विपरीत पावर ग्रिड, एशियन पेंट्स, टाइटन, एचसीएल टेक, डा. रेड्डीज लैब और अल्ट्रा टेक सीमेंट में लाभ दर्ज किया गया। पिछले दिन के सत्र में सेंसेक्स 374.87 अंक यानी 0.79 प्रतिशत बढ़कर 48,080.67, निफ्टी 109.75 अंक यानी 0.77 प्रतिशतबढ़कर 14,406.15 अंक पर बंद हुआ था।

इसे भी पढ़ें: उद्योग पुनरुद्धार की राह पर, विनिवेश सहित अन्य बजट प्रस्ताव पटरी पर : सीतारमण

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में कोरोना वायरस से संक्रमित सक्रिय लोगों का आंकड़ा 24,28,616 तक पहुंच गया है।इससे पिछले दिन 22,91,428 सक्रिय मामले थे।तेजी से बढ़ते संक्रमण को देखते हुये अर्थव्यवस्था में जारी सुधार को झटका लगने का अंदेशा निवेशकों को है। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का बेंचमार्क ब्रेंट तेल का भाव 0.44 प्रतिशत बढ़कर 65.69 डालर प्रति बैरल पर रहा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।