कारों की बिक्री में बढ़ोतरी के लिए SIAM ने कोरिया ऑटोमोबाइल से किया समझौता

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 27, 2019   17:04
कारों की बिक्री में बढ़ोतरी के लिए SIAM ने कोरिया ऑटोमोबाइल से किया समझौता

वढेरा ने कहा वर्ष 2000 के बाद से इन कंपनियों ने भारत में विभिन्न क्षेत्रों में 3.8 अरब डालर का निवेश किया है। यह निवेश इलेक्ट्रानिक्स, आटोमोबाइल, धात्विक और अन्य क्षेत्रों में किया गया।

नयी दिल्ली। वाहन उद्योग के संगठन सियाम ने वाहन उद्योग की बेहतरी में सहयोग के लिये कोरिया के वाहन उद्योग संगठन कोरिया ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन (कामा) के साथ समझौता किया है। सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (सियाम) की यहां बुधवार को जारी विज्ञप्ति के अनुसार यह समझौता एक सतत, सुरक्षित, स्वच्छ, वहनीय और सक्षम वाहन उद्योग के क्षेत्र में सहयोग के लिये किया गया है। 

इसे भी पढ़ें: पंजाब नेशनल बैंक को राहत, दूसरी तिमाही में 507 करोड़ का हुआ लाभ

विज्ञप्ति में कहा गया है कि दोनों संगठन आपस में सहयोगात्मक बातचीत और साझा हितों से जुड़े मुद्दों पर चर्चा के लिये नियमित रूप से सूचनाओं के आदान- प्रदान की प्रणाली स्थापित करेंगे।  सियाम के अध्यक्ष राजन बढ़ेरा ने इस भागीदारी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये कहा कि भारत और दक्षिण कोरिया के बीच सबंधों की शुरुआत 1996 में ही हो गई थी जब हुंडई मोटर्स ने भारतीय बाजार में प्रवेश किया था। उन्होंने कहा कि भारतीय वाहन विनिर्माताओं टाटा समूह, महिन्द्रा एण्ड महिन्द्रा ने भी कोरिया के आटोमोबाइल उद्योग में उल्लेखनीय निवेश किया है। 

इसे भी पढ़ें: सरकार ने 5 साल पहले अर्थव्यवस्था को मजबूत करने का मौका गंवा दिया: अर्थशास्त्री देसारदा

वढेरा ने कहा वर्ष 2000 के बाद से इन कंपनियों ने भारत में विभिन्न क्षेत्रों में 3.8 अरब डालर का निवेश किया है। यह निवेश इलेक्ट्रानिक्स, आटोमोबाइल, धात्विक और अन्य क्षेत्रों में किया गया। हाल ही में दक्षिण कोरिया की किया मोटर्स ने भारत में शुरुआत की है। कामा के अध्यक्ष एवं सीईओ जियांग मार्न- की ने उम्मीद जताई कि इस समझौते से दोनों के बीच रिश्ते और मजबूत होंगे। यह समझौता दोनों पक्षों के आपसी फायदे, निवेश बढ़ाने और व्यापार बढ़ाने में मददगार साबित होगा। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।