• कंपनियों के तिमाही नतीजों, वैश्विक रुख से तय होगी शेयर बाजारों की दिशा

शेयर बाजारों की दिशा इस सप्ताह कंपनियों के तिमाही नतीजों तथा वैश्विक रुख से तय होगी। इसके अलावा डेरिवेटिव निपटान की वजह से बाजार में उतार-चढ़ाव रह सकता है। विश्लेषकों ने यह राय जताई है।

नयी दिल्ली। शेयर बाजारों की दिशा इस सप्ताह कंपनियों के तिमाही नतीजों तथा वैश्विक रुख से तय होगी। इसके अलावा डेरिवेटिव निपटान की वजह से बाजार में उतार-चढ़ाव रह सकता है। विश्लेषकों ने यह राय जताई है। विश्लेषकों ने कहा कि बाजार निवेशकों की निगाह अमेरिकी फेडरल रिजर्व के ब्याज दर को लेकर निर्णय पर भी रहेगी। रेलिगेयर ब्रोकिंग के उपाध्यक्ष (शोध) अजित मिश्रा ने कहा, ‘‘जुलाई माह के डेरिवेटिव अनुबंधों के निपटान की वजह से बाजार में काफी उतार-चढ़ाव रह सकता है। इसके अलावा तिमाही नतीजों का सीजन भी रफ्तार पकड़ेगा।

इसे भी पढ़ें: देश में कोरोना वायरस के 39,472 नये मामले, 24 घंटे में 535 लोगों की मौत

सप्ताह के दौरान एक्सिस बैंक, कोटक बैंक, टाटा मोटर्स, मारुति, कोलगेट, टेक महिंद्रा, भेल, आईओसी, सन फार्मा तथा इंडिगो जैसी बड़ी कंपनियों के तिमाही नतीजे आने हैं।’’ उन्होंने कहा कि इसके अलावा वैश्विक स्तर पर कोविड-19 के रुख तथा 28 जुलाई को होने वाली अमेरिकी केंद्रीय बैंक की बैठक के नतीजों से भी बाजार की दिशा तय होगी। सोमवार को शुरुआती कारोबार में बाजार रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईसीआईसीआई बैंक तथा आईटीसी के तिमाही नतीजों पर प्रतिक्रिया देगा। रिलायंस इंडस्ट्रीज का जून तिमाही का शुद्ध लाभ सात प्रतिशत घटा है। कोविड-19 की दूसरी लहर की वजह से कंपनी का खुदरा कारोबार प्रभावित हुआ है, जिससे उसके मुनाफे में कमी आई है।

इसे भी पढ़ें: श्रावण मास के लिए तैयार मथुरा का द्वारकाधीश मंदिर, बिना मास्क के श्रद्धालुओं पर पाबंदी

कंपनी का तिमाही परिणाम शुक्रवार को आया था। मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के खुदरा शोध प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा कि इस सप्ताह बाजार शुरुआत में रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईटीसी तथा आईसीआईसीआई बैंक के तिमाही नतीजों पर प्रतिक्रिया देंगे। आईसीआईसीआई बैंक का तिमाही नतीजा शनिवार को आया है। बैंक का जून तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 52 प्रतिशत बढकर 4,747.42 करोड़ रुपये रहा है। वहीं एफएमसीजी कंपनी आईटीसी का पहली तिमाही का शुद्ध लाभ 30 प्रतिशत तथा आय 35 प्रतिशत बढ़ी है। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘इस सप्ताह बाजार का रुख वैश्विक धारणा तथा तिमाही नतीजों पर निर्भर करेगा।’’ बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 164.26 अंक या 0.30 प्रतिशत के नुकसान में रहा। इस सप्ताह निवेशकों की निगाह कच्चे तेल की कीमतों, डॉलर के मुकाबले रुपये के उतार-चढ़ाव तथा विदेशी संस्थागत निवेशकों के निवेश के रुख पर भी रहेगी।