ढांचागत क्षेत्र की परियोजनाओं की पहचान में लगा है कार्यबल: सीतारमण

taskforce-is-engaged-in-identifying-infrastructure-projects-says-sitharaman
सीतारमण ने यहां मंगलवार को कहा कि उपभोग बढ़ाने के लिए सरकारी खर्च में तेजी लानी होगी। सरकार का खर्च ढांचागत क्षेत्र की परियोजनाओं में बढ़े यह बेहतर होगा।

चेन्नई। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में निवेश बढ़ाने के लिए सरकार ने कार्यबल गठित किया है। यह कार्यबल उन क्षेत्रों और परियोजनाओं की पहचान की प्रक्रिया में है जहां केंद्र सरकार को निवेश करने की जरूरत है। सीतारमण ने यहां मंगलवार को कहा कि उपभोग बढ़ाने के लिए सरकारी खर्च में तेजी लानी होगी। सरकार का खर्च ढांचागत क्षेत्र की परियोजनाओं में बढ़े यह बेहतर होगा।

उन्होंने कहा कि सरकार पहले ही 100 लाख करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा कर चुकी है। ‘‘मेरा मानना है कि अवसंरचना क्षेत्र से जुड़ी परियोजनाओं में इस राशि का निवेश तेज करने की जरूरत है।’’ सीतारमण यहां संवाददाताओं के साथ सरकार के 100 दिन के कार्यकाल में लिए गए निर्णयों के बारे में संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने परियोजनाओं की पहचान तेज करने के लिए कार्यबल गठित किया है ताकि परियोजनाओं को पैसा दिया जा सके।’’

इसे भी पढ़ें: मनोरंजन और रियल्टी-फोकस सहायक कंपनी स्मार्ट एंटरटेनमेंट ने प्रीति मल्होत्रा को बोर्ड का अध्यक्ष नियुक्त किया

सीतारमण ने कहा कि कार्यबल ने काम शुरू कर दिया है। वह उन परियोजनाओं की पहचान प्रक्रिया में हैं जिन्हें वित्त उपलब्ध कराया जा सकता है। इस कार्यबल में विभिन्न मंत्रालयों के सचिव, अन्य वरिष्ठ अधिकारी और नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी शामिल हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़