इस साल राजकोषीय घाटा बढ़कर हो सकता है 3.8 फीसदी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 25, 2020   13:20
इस साल राजकोषीय घाटा बढ़कर हो सकता है 3.8 फीसदी

देश का राजकोषीय घाटा चालू वित्त चालू वित्त वर्ष 2019-20 में बढ़कर सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 3.8 प्रतिशत पर पहुंच सकता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार आगामी बजट में 2020-21 के लिए राजकोषीय घाटे का 3.5 प्रतिशत का लक्ष्य तय कर सकती है। आम बजट एक फरवरी को पेश किया जाना है।

मुंबई। देश का राजकोषीय घाटा चालू वित्त चालू वित्त वर्ष 2019-20 में बढ़कर सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 3.8 प्रतिशत पर पहुंच सकता है। बैंक आफ अमेरिका सिक्योरिटीज की शुक्रवार को जारी एक रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है। 

इसे भी पढ़ें: दूरसंचार विभाग ने पावरग्रिड से मांगे 22,000 करोड़, कंपनी ने दी सुप्रीम कोर्ट में चुनौती

रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार आगामी बजट में 2020-21 के लिए राजकोषीय घाटे का 3.5 प्रतिशत का लक्ष्य तय कर सकती है। आम बजट एक फरवरी को पेश किया जाना है। रिपोर्ट में कहा गया है कि आम बजट आधार स्तर पर आयकर कटौती, लघु और मझोले उपक्रमों और आवास के लिए ब्याज सहायता के जरिये उपभोग मांग बढ़ाने पर केंद्रित होगा। चालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि दर पांच प्रतिशत रहने का अनुमान है। रिपोर्ट में कहा गया है कि उपभोक्ता मांग में कमी इसकी प्रमुख वजह है। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।