क्या पाकिस्तान को धूल चटा पाएगी बांग्लादेश की टीम ?

By दीपक मिश्रा | Publish Date: Jul 1 2019 9:46AM
क्या पाकिस्तान को धूल चटा पाएगी बांग्लादेश की टीम ?
Image Source: Google

पिछले 4 वर्षों में बांग्लादेश एशिया में भारत के बाद दूसरी सबसे बेहतर टीम बन कर उभरी है। 2015 वर्ल्ड कप में क्वार्टर फाइनल खेलना हो या फिर 2017 चैंपियंस ट्रॉफी में सेमीफाइनल तक पहुंचना और उसके बाद 2018 का एशिया कप फाइनल में जगह बनाना इस टीम ने अपने प्रदर्शन से सबको प्रभावित किया है।

वर्ल्ड कप 2019 में सेमीफाइनल में जगह बनाने का मुकाबला काफी कड़ा होता जा रहा है। इस वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया पहले ही सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई कर चुका है। इसके अलावा भारत और न्यूजीलैंड का सेमीफाइनल में पहुंचना लगभग तय है। वैसे तो इस वर्ल्ड कप में कई मैच ऐसे हुए जो काफी रोमांच से भरे थे। श्रीलंका का इंग्लैंड को हराया या फिर बांग्लादेश का वेस्टइंडीज के खिलाफ 300 से ऊपर का लक्ष्य बड़ी आसानी से हासिल कर लेना दोनों ही काफी शानदार मौके थे। इस वर्ल्ड कप में अब सबसे बड़ा रोमांच बांग्लादेश और पाकिस्तान के बीच 5 जुलाई को होने वाले मैच को लेकर माना जा रहा है। यह मैच दोनों टीम के लिए क्वार्टरफाइनल की तरह है। दोनों ही टीमें वर्ल्ड कप में सेमीफाइनल में जगह बनाने की लिए जोरदार टक्कर में है। जहां पाकिस्तान का जीतना उन्हें वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में पहुंचा देगा। वहीं बांग्लादेश भी पहली बार सेमीफाइनल का रास्ता तय कर इतिहास रचना चाहेगी। जाहिर है दोनों टीम के बीच मुकाबला काफी कड़ा है। बांग्लादेश इस टूर्नामेंट में शानदार फार्म में चल रही है। उनकी बल्लेबाजी जबरदस्त रही है वहीं गेंदबाजी में भी टीम के पास काफी अनुभव है। इसके विपरीत पाकिस्तान की टीम पर नजर डाली जाएं तो वह किसी भी दिन दूसरी टीम को चकमा दे सकती है। इस टीम के खिलाड़ियों के बारे में अंदाजा लगाना काफी मुश्किल है। जिसकी वजह से यह ज्यादा खतरनाक टीम हो जाती है। वर्ल्ड कप 2019 में इंग्लैंड को हराना हो या फिर न्यूजीलैंड को मात देना। इन्होंने अपने प्रदर्शन से दिखा दिया कि दूसरी टीमों को इन्हें हल्के में लेने की जरूरत नहीं है।


पाकिस्तान और बांग्लादेश में किसका पलड़ा है भारी
पिछले 4 वर्षों में बांग्लादेश एशिया में भारत के बाद दूसरी सबसे बेहतर टीम बन कर उभरी है। 2015 वर्ल्ड कप में क्वार्टर फाइनल खेलना हो या फिर 2017 चैंपियंस ट्रॉफी में सेमीफाइनल तक पहुंचना और उसके बाद 2018 का एशिया कप फाइनल में जगह बनाना इस टीम ने अपने प्रदर्शन से सबको प्रभावित किया है। बांग्लादेश की टीम पिछले कुछ सालों में जबरदस्त प्रदर्शन कर रही है। मुश्फिकर रहीम, शाकिब अल हसन, सौम्या सरकार, तमीम इकबाल और महमुदुल्लाह इस टीम के सितारे है। जो कई बार बांग्लादेश को जीत दिला चुके है। इसके अलावा इनके कप्तान मशरफे मुर्तजा गेंदबाजी में एक खास तरह का अनुभव लेकर आते है। जो इस टीम के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है। इसके अलावा इस टीम के पाल लिटन दास और मेंहदी हसन जैसे युवा खिलाड़ी भी मौजूद है जो अकेले दम पर मैच जिताना जानते है। इस वर्ल्ड कप में बांग्लादेश की टीम काफी शानदार प्रदर्शन कर रही है। टीम के लिए शाकिब अल हसन जबरदस्त तरीके से रन बना रहे है। इस वर्ल्ड कप में शाकिब के बल्ले से अबतक 6 मैचों में 95.20 की औसत से 476 रन बना चुके है। जिसमें वो 2 शतक और 3 अर्धशतक भी जड़ चुके है। इसके अलावा बांग्लादेशी टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज मुश्फिकर रहीम 6 मैच में 65.40 की औसत से 327 रन बना चुके है। जिसमे उनके नाम 1 शतक और 2 अर्धशतक दर्ज है। जाहिर है जिस तरह से इस टीम के बल्लेबाज प्रदर्शन कर रहे है। वह पाकिस्तान पर भारी पड़ते दिखाई देते है। पाकिस्तान के खिलाफ पिछले कुछ सालों में इस टीम के प्रदर्शन भी काफी मजबूत रहा है। इसके अलावा यह टीम इस वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के मुकाबले काफी मजबूत भी दिखाई दे रही है। अगर पाकिस्तान टीम पर नजर डाली जाएं तो उन्होंने भले ही इंग्लैंड और न्यूजीलैंड को हराया है लेकिन उनकी भी कई खामियां सबके सामने आई है। पाकिस्तान की इस वर्ल्ड कप में ताकत उनकी गेंदबाजी रही है। बांग्लादेश की इस वर्ल्ड कप में सबसे बड़ी ताकत उनकी बल्लेबाजी है। उम्मीद है दोनों टीम के बीच मुकाबला काफी कड़ा होगा लेकिन मौजूदा प्रदर्शन देखकर लगता है कि 2019 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के उपर बांग्लादेश की टीम बीस साबित होगी।


वर्ल्ड कप में पहले भी उलटफेर कर चुकी है बांग्लादेशी टीम 
2007 वर्ल्ड कप में बांग्लादेश की टीम भारत के लिए बुरा सपना बनकर आई थी। बांग्लादेश के खिलाफ वर्ल्ड कप 2007 में भारत को हार का सामना करना पड़ा था। जिसकी वजह से टीम इंडिया वर्ल्ड कप से पहले ही राउंड में बाहर भी हो गई थी। इस मैच में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 5 विकेट के नुकसान पर 192 का स्कोर खड़ा किया था। भारत की तरफ से सौरव गांगुली ने 66 रन की पारी खेली जिसके बाद टीम इंडिया का कोई भी बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर पाया। बांग्लादेश ने इस लक्ष्य का पीछा 48.3 ओवर में 5 विकेट खोकर हासिल कर लिया था। बांग्लादेश की तरफ से तमीम इकबाल ने 51, रहीम ने 56 और शाकिब अल हसन ने 53 रनों की पारी खेली थी। जिसकी वजह से भारत को हार का सामना करना पड़ा। जाहिर है बांग्लादेश का यह उलटफेर इस वर्ल्ड कप का सबसे बड़ा उलटफेर माना गया और 2003 वर्ल्ड कप की रनर अप टीम वेस्टइंडीज में होने वाले इस वर्ल्ड कप में पहले ही राउंड से बाहर हो गई। 
2007 के बाद बांग्लादेश की टीम ने 2011 वर्ल्ड कप में भी उलटफेर किया। इस वर्ल्ड कप में उनके हत्थे इंग्लैंड की टीम चढ़ी। बांग्लादेश ने इंग्लैंड को पहले बल्लेबाजी करते हुए 225 रनों के स्कोर पर समेट दिया था। इंग्लैंड की तरफ से जोनाथन ट्रॉट 67 औऱ मोर्गन 63 रन बना सकें और उनके अलावा किसी भी बल्लेबाज ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। जिसके जवाब में बांग्लादेश टीम की तरफ से तमीम इकबाल, इमरूल कायस और शाबिक अल हसन ने अच्छी पारियां खेली और 8 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। 2011 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड का इस मैच का हारना उनका टूर्नामेंट से बाहर होने की सबसे बड़ी वजह बना। इंग्लैंड की टीम एक बार फिर से वर्ल्ड कप जीतने का सपना पूरा नहीं कर पाई और बाद में बिना सेमीफाइनल तक पहुंचे टूर्नामेंट से बाहर हो गई। 
 
जाहिर है इस वर्ल्ड कप में भी बांग्लादेश की टीम अच्छा प्रदर्शन कर रही है। अब यह टीम उलटफेर से ज्यादा अपने शानदार प्रदर्शन से सबका ध्यान खींच रही है। उम्मीद है पाकिस्तान के खिलाफ भी बांग्लादेश के धुरंधर अच्छा प्रदर्शन करेंगे और जीत हासिल करेंगे।
 
- दीपक मिश्रा
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   



Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.

Related Story

Related Video