क्या फेल हुई ड्रैगन की जीरो कोविड पॉलिसी ? डरा रहा कोरोना, राजधानी के सभी स्कूल हुए बंद

क्या फेल हुई ड्रैगन की जीरो कोविड पॉलिसी ? डरा रहा कोरोना, राजधानी के सभी स्कूल हुए बंद
प्रतिरूप फोटो
Creative Commons licenses

बीजिंग के सभी स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया गया है, ताकि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। शहर के शिक्षा ब्यूरो ने सभी स्कूलों को शुक्रवार से बंद रखने का आदेश देते हुए कहा कि अभी तय नहीं है कि स्कूलों को कब खोला जाएगा।

बीजिंग। चीन में कोरोना संक्रमण से हाहाकार मचा हुआ है। राजधानी बीजिंग के हालात तो बद से बदतर होते जा रहे हैं और मामलों में भी लगातार इजाफा हो रहा है। ऐसे में प्रशासन ने सभी स्कूलों को बंद रखने का सख्त फैसला किया है। इतना ही नहीं बीजिंग में तीन बार सामूहिक टेस्ट के आदेश दिए जा चुके हैं। इसके अतिरिक्त वित्तीय राजधानी शंघाई के हालात भी काफी बुरे हैं, वहां पर हफ्तों से लॉकडाउन लगा हुआ है। इसके बावजूद स्थिति नियंत्रित नहीं हो सकी है। 

इसे भी पढ़ें: ट्विटर बनेगा चीन की नई प्रोपोगेंडा मशीन? क्या है मस्क का ड्रैगन कनेक्शन, Amazon के मालिक ने क्यों उठाए सवाल 

ऑनलाइन क्लासेस हुईं शुरू

गौरतलब है कि 2.1 करोड़ आबादी वाले बीजिंग शहर के प्रशासन ने महीने के पहले ही सप्ताह में तीन चरण में व्यापक स्तर पर कोविड टेस्ट करने के आदेश दिए थे और तीसरे चरण के टेस्ट शुक्रवार को होने है। वहीं कुछ समुदायों को कोरोना के मामले आने के बाद क्वारंटीन किया गया है। चायोयांग जिले में गुरुवार को छात्रों की ऑनलाइन पढ़ाई शुरू हुई।

आपको बता दें कि, बीजिंग के सभी स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया गया है, ताकि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। शहर के शिक्षा ब्यूरो ने सभी स्कूलों को शुक्रवार से बंद रखने का आदेश देते हुए कहा कि अभी तय नहीं है कि स्कूलों को कब खोला जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: एक और चीनी खतरा: इंसान में बर्ड फ्लू का पहला मामला आया सामने, चार साल का बच्चा संक्रमित 

इससे पहले बीजिंग में गुरुवार को कोरोना के 50 नए मामले सामने आए। जिससे हाल में शहर में संक्रमित होने वालों की संख्या करीब 150 हो गई है। ऐसे में कोरोना के कुल संक्रमितों में 30 फीसदी से अधिक बच्चे हैं।