अमेरिकी अरबपति जेफ्री एपस्टीन की खुदकुशी पर मचा बवाल, जानिए किसने क्या कहा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 12, 2019   11:57
  • Like
अमेरिकी अरबपति जेफ्री एपस्टीन की खुदकुशी पर मचा बवाल, जानिए किसने क्या कहा

अमेरिका की एक जेल में यौन अपराधी एवं अमेरिकी फाइनेंसर जेफ्री एपस्टीन की कथित आत्महत्या को लेकर रविवार को देशभर में नाराजगी और बढ़ गई। कई अमेरिकी सांसदों ने इसको लेकर जवाबदेही की मांग करते हुये आशंका जताया कि कहीं उसकी मौत के पीछे कोई ‘‘आपराधिक कृत्य’’ तो नहीं छुपा है। यौन अपराधी एवं अमेरिकी फाइनेंसर जेफ्री एपस्टीन शनिवार को जेल में मृत पाया गया। ऐसा माना जा रहा है कि उसने आत्महत्या की।

न्यूयॉर्क। अमेरिका की एक जेल में यौन अपराधी एवं अमेरिकी फाइनेंसर जेफ्री एपस्टीन की कथित आत्महत्या को लेकर रविवार को देशभर में नाराजगी और बढ़ गई। कई अमेरिकी सांसदों ने इसको लेकर जवाबदेही की मांग करते हुये आशंका जताया कि कहीं उसकी मौत के पीछे कोई ‘‘आपराधिक कृत्य’’ तो नहीं छुपा है। यौन अपराधी एवं अमेरिकी फाइनेंसर जेफ्री एपस्टीन शनिवार को जेल में मृत पाया गया। ऐसा माना जा रहा है कि उसने आत्महत्या की।

अमेरिका में इस बात पर सवाल खड़े हो रहे हैं कि जेल में बंद हाई-प्रोफाइल व्यक्ति ने आत्महत्या कैसे कर ली। सरकार और एफबीआई ने मामले की जांच तत्काल शुरू कर दी। नेताओं, कानून प्रवर्तन अधिकारियों और पीड़ितों ने इस पर हैरानी जताई है कि एपस्टीन ने हाल में आत्महत्या की कोशिश की थी, जिसके बाद उस पर कड़ी नजर रखी जानी चाहिए थी, तो ऐसे में उसने अपनी जान कैसे ले ली।

इसे भी पढ़ें: पेन्सिल्वेनिया के ‘डे केयर सेंटर’ में आग लगने से पांच बच्चों की दर्दनाक मौत

एपस्टीन के कई नेताओं और सिलेब्रिटीज से निकट संबंध थे। अमेरिका के न्याय विभाग ने बताया कि एपस्टीन न्यूयॉर्क के मेट्रोपोलिटन सुधार केंद्र में अंतरराष्ट्रीय समयानुसार सुबह साढ़े 10 बजे मृत पाया गया। उसने ‘‘स्पष्ट रूप से आत्महत्या’’ की। अमेरिका के अटॉर्नी जनरल बिल बार ने बताया कि वह इस घटना से ‘‘स्तब्ध’’ हैं और उन्होंने न्याय विभाग के महानिरीक्षक से परिस्थितियों की जांच करने को कहा है। उन्होंने कहा, ‘‘एपस्टीन की मौत गंभीर प्रश्न खड़े करती है, जिनका जवाब दिया जाना चाहिए।’’ उन्होंने बताया कि एफबीआई भी जांच कर रही है।

इसे भी पढ़ें: विदेशी दखल के बिना देश का भविष्य तय करें: अशरफ गनी

डेमोक्रेटिक सीनेटर और पार्टी की तरफ से 2020 राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारी की दौड़ में शामिल क्रिस्टन गिलिब्रैंड ने रविवार को तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। न्यूयॉर्क की रहनेवाली गिलिब्रैंड ने सीबीएस के ‘‘फेस द नेशन’’ से कहा, ‘‘यह शर्म की बात है कि उसने आत्महत्या कर ली।’’ न्यूयॉर्क के मुख्य चिकित्सा परीक्षक बारबरा सैम्पसन ने रविवार को कहा कि शव परीक्षण पूरा हो चुका है, लेकिन मौत के कारण संबंधी जानकारी अभी सामने नहीं आ पायी है। ‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ और अन्य मीडिया ने बताया कि एपस्टीन ने फांसी लगा ली। शहर के चिकित्सकीय जांचकर्ता के कार्यालय ने मौत की वजह की पुष्टि नहीं की है। 

इसे भी पढ़ें: चीन के साथ व्यापार सौदा करने को तैयार नहीं अमेरिका: ट्रंप

न्यूयार्क टाइम्स’ ने बताया कि 66 वर्षीय एपस्टीन 23 जुलाई को भी बेहोश मिला था और उसके गले पर निशान थे। इसके बाद छह दिन तक उस पर नजर रखी गई थी। इसके बाद उसे कड़ी सुरक्षा वाली जेल में उसकी कोठरी में भेज दिया गया था। एपस्टीन की मौत से एक दिन पहले ही न्यूयॉर्क की अदालत ने सीलबंद कानूनी दस्तावेज जारी किए थे जिनमें यह बताया गया था कि अभियोजकों ने देह व्यापार के लिए तस्करी के संबंध में एपस्टीन पर क्या आरोप लगाए हैं।

इसे भी पढ़ें: अनुच्छेद 370: जम्मू-कश्मीर संबंधी कानून पर निकटता से नजर रख रहा है अमेरिका

हेज फंड प्रबंधक एपस्टीन पर देह व्यापार के लिए नाबालिग लड़कियों की तस्करी करने और इसका षड्यंत्र रचने के आरोप लगाए थे। एपस्टीन ने इन आरोपों से इनकार किया था। इन मामलों में दोषी पाए जाने पर उसे 45 साल कारावास की सजा हो सकती थी। इससे पहले, एपस्टीन ने 18 वर्ष से कम आयु की किशोरी को देह व्यापार के लिए खरीदने का अपराध स्वीकार किया था जिसके लिए उसने कारावास की सजा भुगती थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept