चीन में दुर्घटनाग्रस्त हुए विमान के ब्लैक बॉक्स को जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा गया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 24, 2022   23:02
चीन में दुर्घटनाग्रस्त हुए विमान के ब्लैक बॉक्स को जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा गया

चीन के नागरिक विमानन प्रशासन के विमानन सुरक्षा कार्यालय के प्रमुख झू ताओ ने बृहस्पतिवार को बताया कि क्षतिग्रस्त हालत में मिले ब्लैक बॉक्स को बीजिंग स्थित प्रयोगशाला में बुधवार रात को भेजा गया है। एक ब्लैक बॉक्स या कॉकपिट रिकॉर्डर में इंजन की आवाज, ‘ऑडियो अलर्ट’ और ‘बैकग्राउंड साउंड’ कैद हो जाते हैं।

बीजिंग। चीन में दुर्घटनाग्रस्त हुए एक विमान के बरामद किए गए ब्लैक बॉक्स को ‘डीकोड’ करने के लिए प्रयोगशाला में भेजा गया है और डेटा का विश्लेषण जारी है। चीन के नागरिक विमानन प्रशासन के विमानन सुरक्षा कार्यालय के प्रमुख झू ताओ ने बृहस्पतिवार को बताया कि क्षतिग्रस्त हालत में मिले ब्लैक बॉक्स को बीजिंग स्थित प्रयोगशाला में बुधवार रात को भेजा गया है। एक ब्लैक बॉक्स या कॉकपिट रिकॉर्डर में इंजन की आवाज, ‘ऑडियो अलर्ट’ और ‘बैकग्राउंड साउंड’ कैद हो जाते हैं। इसके मिलने से दुर्घटना का उचित कारण पता चल सकता है। सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ की खबर के मुताबिक, झू ने कहा कि विमान के दूसरे ब्लैक बॉक्स को ढूंढने के लिए दक्षिणी चीन में आसपास व्यापक क्षेत्र में तलाश अभियान चलाया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: कंगना रनौत के शो का हिस्सा बनेंन करण कुंद्रा! लॉकअप में 'जेलर' बनकर कैदियों को दिया ये बड़ा सरप्राइज

चीन के कुनमिंग शहर से गुआनझो जा रहा ‘चाइना ईस्टर्न’ का विमान बोईंग 737-800 वुझोउ शहर के एक पर्वतीय क्षेत्र में सोमवार को दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। विमान में 132 लोग सवार थे, जिनमें से अब तक किसी का पता नहीं चल पाया है। रुक-रुक कर हो रही बारिश के कारण लगातार दूसरे दिन तलाश अभियान बाधित हुआ। बृहस्पतिवार को घटनास्थल से इंजन के मलबे के कुछ हिस्से मिले हैं।गुआंगशी क्षेत्र के दमकल प्रमुख झेंग शी अबतक विमान के मलबे के 183 हिस्से, पीड़ितों के अवशेष और सामान मिला है जिसे जांचकर्ता टीम को सौंप दिया गया है। अभियान में जुटे कर्मी घने जंगलों तथा खड़ी ढलानों पर हाथ के औजारों, मेटल डिटेक्टर, ड्रोन और श्वान दस्ते का इस्तेमाल कर रहे हैं। ‘सीसीटीवी’ की फुटेज में पुलिसकर्मी बृहस्पतिवार को हरे एवं गहरे रंग के ‘रेन गियर’ (बरसाती पोशाक) पहने नजर आए। कुछ के हाथ में फावड़े या हंसिया जैसे औजार भी दिखे।

इसे भी पढ़ें: सोमालिया में हुआ भीषण आत्मघाती हमला, महिला सांसद समेत 48 लोग मारे गये, 108 अन्य घायल

सभी ने सर्जिकल मास्क भी पहन रखे थे। गुआंगशी क्षेत्र के दमकल प्रमुख झेंग शी नेएक पत्रकार वार्ता में कहा कि बारिश की वजह से उनका काम बाधित हो रहा है। अमेरिकी समाचार एजेंसी ‘एसोसिएटिड प्रेस’ ने खबर दी है किउप दमकल प्रमुख हुआंग शानग्वू ने कहा कि 300 से ज्यादा कर्मी खोज अभियान में शामिल हैं। चीन की चार प्रमुख विमानन कंपनियों में से एक ‘चाइना ईस्टर्न’ ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसने और उसकी सहयोगी कंपनियों ने 223 बोइंग 737-800 विमानों को उड़ाने पर रोक लगा दी है और वे संभावित सुरक्षा खतरे की जांच कर रहे हैं। इससे पहले ‘चाइना ईस्टर्न’ ने कहा था कि विमानों को न उड़ाने का फैसला एहतियात के तौर पर किया गया है न कि उसमें कुछ गड़बड़ है। विमानन कंपनी ने कहा कि हादसे का शिकार हुआ विमान अच्छी स्थिति में था और चालक दल के सदस्य अनुभवी थे तथा उनकी सेहत भी अच्छी थी।

अधिकारियों ने बताया कि हवाई यातायात नियंत्रक के एक कर्मी ने विमान की ऊंचाई तेजी से कम होने पर पायलट से कई बार संपर्क करने की कोशिश की लेकिन उसे कोई जवाब नहीं मिला। वहीं जांचकर्ताओं का कहना है कि अभी दुर्घटना के कारणों पर बात करना जल्दबाज़ी होगी। सरकार ने अबतक पायलटों के नाम नहीं बताएं हैं, लेकिन मीडिया में आई कुछ खबरों में पायलट की पहचान यांग होंगडा के तौर पर की गई है। खबरों के मुताबिक, सह पालयट झांग झेग एक अनुभवी विमान चालक थे जिनका करियर 30 साल का था और उन्हें 32000 घंटे का उड़ान अनुभव था। इस बीच पहली बार विदेशी मीडिया को बृहस्पतिवार को दुर्घटना क्षेत्र ले जाया गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...