अमेरिका में पुलिस हिरासत में अश्वेत नागरिक की हत्या के बाद हुए हिंसक प्रदर्शन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 29, 2020   18:53
अमेरिका में पुलिस हिरासत में अश्वेत नागरिक की हत्या के बाद हुए हिंसक प्रदर्शन

अमेरिका में पुलिस हिरासत में व्यक्ति की मौत पर मिनीपोलिस के बाहर भी प्रदर्शन किए गए।पुलिस के एक अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की कि बृहस्पतिवार रात 10 बजे के बाद ‘‘अपने कर्मियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए’’ प्रेसिंक्ट थाने को खाली कर दिया गया था।

मिनीपोलिस। अमेरिका में पुलिस हिरासत में एक अश्वेत व्यक्ति की मौत को लेकर हो रहे प्रदर्शन बृहस्पतिवार को मिनीपोलिस क्षेत्र के बाहर भी पहुंच गए। प्रदर्शनकारियों ने सेंट पॉल मार्ग पर लूटपाट और आगजनी की तथा वे उस जगह पर फिर से पहुंच गए जहां हिंसक प्रदर्शन के चलते पहले ही बहुत नुकसान हो चुका है। प्रदर्शनकारियों ने मिनीपोलिस में एक थाने को भी आग लगा दी जिसे पुलिस विभाग ने हिंसक प्रदर्शनों चलते खाली कर दिया था। पुलिस के एक अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की कि बृहस्पतिवार रात 10 बजे के बाद ‘‘अपने कर्मियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए’’ प्रेसिंक्ट थाने को खाली कर दिया गया था। प्रदर्शनकारी एक वीडियो में थाने में घुसते और इमारत को आग लगाते दिखाई देते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने स्थिति को लेकर टिप्पणी की कि मिनीपोलिस में ‘‘नेतृत्व का पूरी तरह अभाव’’ है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘अभी गवर्नर टिम वाल्ज से बात की और उनसे कहा कि सेना उनके साथ है। जब लूटपाट शुरू होती है तो गोलीबारी शुरू होती है।’’

इसे भी पढ़ें: Twitter ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को दी चेतावनी, ‘फ्लैग’ किए ट्वीट

जॉर्ज फ्लोयड नाम के हथकड़ी लगे एक अश्वेत व्यक्ति की गर्दन पर श्वेत पुलिस अधिकारी द्वारा घुटना रखे जाने का वीडियो वायरल होने के बाद लोगों में भारी रोष है। वीडियो में दिख रहा है कि अधिकारी कम से कम आठ मिनट तक अपने घुटने से व्यक्ति की गर्दन दबाए रखता है। इस दौरान व्यक्ति सांस रुकने की बात कहता नजर आता है। गत सोमवार को हुई घटना के वीडियो में दिखता है कि व्यक्ति का हिलना-डुलना और बोलना बंद हो जाने पर भी पुलिस अधिकारी डेरेक चाउविन अपना घुटना नहीं हटाता। यह वीडियो एक राहगीर ने बनाया था। फ्लोयड की मौत के बाद लगातार तीसरी रात भी हिंसक प्रदर्शन हुए। ट्विन सिटीज क्षेत्र में दर्जनों कारोबारी प्रतिष्ठानों ने लूटपाट से बचने के लिए बृहस्पतिवार को अपने खिड़की और दरवाजे बंद रखे।

इसे भी पढ़ें: चीन ने खारिज किया ट्रंप की मध्यस्थता का प्रस्ताव, कहा- तीसरे पक्ष का नहीं चाहते ‘‘हस्तक्षेप’’

अमेरिकी कंपनी टार्गेट ने अपने दो दर्जन स्टोर को अस्थायी रूप से बंद रखने की घोषणा की। मिनीपोलिस में सुरक्षा चिंताओं के चलते रेल और बस सेवाएं बाधित हुई हैं। सेंट पॉल में धुएं का गुबार उठता देखा गया। कई जगह लगाई गई आग को बुझाने के लिए दमकल दस्तों को मशक्कत करनी पड़ी। प्रदर्शनकारियों पर पुलिस कड़ी नजर रख रही है। टार्गेट कंपनी के एक प्रतिष्ठान के बाहर अधिकारी खड़े नजर आए जो प्रदर्शनकारियों को दूर रखने की कोशिश कर रहे थे। हिंसा पर उतारू प्रदर्शकारी अन्य कारोबारी प्रतिष्ठानों के शीशों को तोड़ते नजर आए। सैकड़ों प्रदर्शनकारी बृहस्पतिवार को मिनीपोलिस के पास उस स्थान पर फिर से पहुंच गए जो हिंसा का केंद्र बनकर उभरा है। सारी रात इस जगह पर हंगामा होता रहा। मिनीपोलिस में दूसरी तरफ हजारों लोगों ने शांतिपूर्ण प्रदर्शन भी किया और न्याय की मांग की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।