ईरान के परमाणु समझौते को बचाने के लिए वियना बैठक ''आखिरी मौका''

iran-says-vienna-meet-is-last-chance-to-save-nuclear-deal
समझौते पर तथाकथित संयुक्त आयोग की तिमाही बैठक में ईरान के वरिष्ठ अधिकारियों व फ्रांस, जर्मनी, ब्रिटेन, रूस, चीन और यूरोपीय यूनियन के वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे और माना जा रहा है कि वह समझौते के कार्यान्वयन पर चर्चा करेंगे।

 विएना। ईरान के साथ 2015 में हुए परमाणु करार में शामिल देश और ईरान के वरिष्ठ अधिकारियों की शुक्रवार को विएना में बैठक होगी। अमेरिका के इस समझौते से बाहर निकलने के बाद इसके अस्तित्व पर उत्पन्न खतरे के मद्देनजर इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है। समझौते पर तथाकथित संयुक्त आयोग की तिमाही बैठक में ईरान के वरिष्ठ अधिकारियों व फ्रांस, जर्मनी, ब्रिटेन, रूस, चीन और यूरोपीय यूनियन के वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे और माना जा रहा है कि वह समझौते के कार्यान्वयन पर चर्चा करेंगे।

इसे भी पढ़ें: मोहम्मद जवाद ज़रीफ ने कहा, ईरान के साथ जंग लंबा नहीं खींचने की ट्रंप की सोच भ्रम है

ईरान पहले ही कह चुका है कि वह इस समझौते को बरकरार रखना चाहता है। उसने यूरोपीय देशों से अपना तेल खरीदने या ईरान को कर्ज देने का आग्रह किया है। 2015 के समझौते के अनुसार ईरान को आर्थिक प्रतिबंधों में छूट हासिल करने के लिये अपनी परमाणु महत्वाकांक्षाओं में कटौती करना था। पिछले साल अमेरिका समझौते से बाहर आ गया था और उसने ईरान पर आर्थिक प्रतिबंध लगा दिये थे। 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़