नाइजीरिया में हथियारों के दम पर 120 से ज्यादा स्कूली छात्रों को किया गया अगवा, अब तक 28 छोड़ा गया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 26, 2021   11:25
नाइजीरिया में हथियारों के दम पर 120 से ज्यादा  स्कूली छात्रों को किया गया अगवा, अब तक 28 छोड़ा गया

नाइजीरिया में हथियारों से लैस अपहरणकर्ताओं ने जुलाई की शुरुआत में उत्तरी शहर दामिशी में ‘बेथेल बैपटिस्ट हाई स्कूल’ से अगवा किए गए 120 से अधिक छात्रों में से 28 छात्रों को रिहा कर दिया है।

कानो (नाइजीरिया)। नाइजीरिया में हथियारों से लैस अपहरणकर्ताओं ने जुलाई की शुरुआत में उत्तरी शहर दामिशी में ‘बेथेल बैपटिस्ट हाई स्कूल’ से अगवा किए गए 120 से अधिक छात्रों में से 28 छात्रों को रिहा कर दिया है। गिरजाघर अधिकारियों ने इन बच्चों को रविवार को स्कूल में उनके अभिभावकों को सौंप दिया। ‘ बैपटिस्ट कन्वेंशन’ के अध्यक्ष इस्राइल अकांजी ने बताया कि 80 से अधिक छात्र अब भी बंदूकधारियों के कब्जे में हैं। पांच जुलाई को स्कूल से अगवा किए गए छात्रों में से अभी तक 34 को या तो छोड़ दिया गया है या वे खुद बंदूकधारियों के कब्जे से भाग निकले। ये छात्र कब रिहा हुए इसकी कोई जानकारी नहीं है।

इसे भी पढ़ें: विश्व कैडेट चैंपियनशिप में भारत ने जीते 5 गोल्ड सहित 13 मेडल, PM मोदी और खेल मंत्री ने दी बधाई

बंदूकधारियों ने कथित तौर पर प्रत्येक बच्चे की रिहाई के लिए 5,00,000 नाइरा (करीब1200 अमेरिकी डॉलर) की मांग हैं। अकांजी ने कहा कि गिरजाघर ने कोई फिरौती नहीं दी क्योंकि वह अपराधियों को पैसे देने का विरोध करता है। नाइजीरियाई पुलिस के प्रवक्ता मोहम्मद जालिगे ने कहा कि सुरक्षा बल और नागरिक रक्षा बल 12 जुलाई को सोहोन गया गांव के पास जंगलों के आसपास नियमित गश्त पर थे, तभी उन्होंने तीन अपहृत बच्चों को झाड़ी के पास घूमते हुए देखा। वहीं, 20 जुलाई को दो अन्य छात्र अपहरणकर्ताओं के चंगुल से भाग निकले।

इसे भी पढ़ें: तोक्यो ओलंपिक खेलों पर कोरोना का कहर, कोविड के 16 नये मामले आए सामने

उनकी चिकित्सकीय जांच की जा रही है। मोहम्मदु बुहारी ने नाइजीरिया की सुरक्षा चुनौतियों से निपटने की दिशा में कदम उठाने का वादा करते हुए राष्ट्रपति चुनाव जीता था, लेकिन नाइजीरियाई स्कूलों से अपहरण के बढ़ते मामलों को रोकने में वह नाकाम रहे हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।