सहयोगियों की रक्षा के लिए सैनिक भेजेगा नाटो

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 26, 2022   07:02
सहयोगियों की रक्षा के लिए सैनिक भेजेगा नाटो
प्रतिरूप फोटो

नाटो की एक बैठक की अध्यक्षता करने के बाद स्टोलटेनबर्ग ने कहा कि नेताओं ने नाटो प्रतिक्रिया बल (एनआरएफ) के कुछ हिस्से और त्वरित रूप से तैनात होने वाली एक इकाई को भेजने का फैसला किया।

ब्रसेल्स|  नाटो महासचिव जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने शुक्रवार को कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन और उनके समकक्ष यूक्रेन पर रूस के आक्रमण के मद्देनजर पूर्वी हिस्से में स्थित अपने सहयोगियों की रक्षा के लिए समूह के प्रतिक्रिया बल के कुछ हिस्से को भेजने पर सहमत हुए हैं।

नाटो की एक बैठक की अध्यक्षता करने के बाद स्टोलटेनबर्ग ने कहा कि नेताओं ने नाटो प्रतिक्रिया बल (एनआरएफ) के कुछ हिस्से और त्वरित रूप से तैनात होने वाली एक इकाई को भेजने का फैसला किया।

उन्होंने यह नहीं बताया कि कितने सैनिकों को तैनात किया जाएगा, लेकिन इसकी पुष्टि की कि इस कदम में जमीनी, समुद्री और वायु शक्ति शामिल होगी। एनआरएफ में सैनिकों की संख्या 40,000 हो सकती है, लेकिन स्टोलटेनबर्ग ने कहा कि नाटो पूरे बल को तैनात नहीं करेगा।

नाटो के ‘वेरी हाई रेडीनेस ज्वाइंट टास्क फोर्स’ (वीजेटीएफ) बल के कुछ हिस्सों को भी भेजा जाएगा, जिसका नेतृत्व वर्तमान में फ्रांस कर रहा है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।