कोलंबो पहुंचे एनएसए अजील डोभाल, भारत-श्रीलंका-मालदीव के बीच होगी त्रिपक्षीय वार्ता

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 27, 2020   15:26
  • Like
कोलंबो पहुंचे एनएसए अजील डोभाल, भारत-श्रीलंका-मालदीव के बीच होगी त्रिपक्षीय वार्ता

डोभाल समुद्री सुरक्षा को लेकर त्रिपक्षीय वार्ता में शिरकत करने श्रीलंका पहुंचे।इससे पहले यह बैठक 2014 में नयी दिल्ली में हुई थी। कोलंबो में भारतीय दूतावास ने ट्वीट किया, ‘‘भारत-श्रीलंका-मालदीव के बीच समुद्री और सुरक्षा सहयोग पर वार्ता के लिए एनएसए अजित डोभाल कोलंबो पहुंच गए हैं।

कोलंबो। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल भारत, श्रीलंका और मालदीव के बीच समुद्री सुरक्षा को लेकर त्रिपक्षीय वार्ता के लिए शुक्रवार को कोलंबो पहुंचे। श्रीलंका, भारत और मालदीव के साथ शुक्रवार और शनिवार को समुद्री सुरक्षा सहयोग पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की चौथी त्रिपक्षीय बैठक का आयोजन कर रहा है। छह साल बाद यह बैठक हो रही है। इससे पहले यह बैठक 2014 में नयी दिल्ली में हुई थी। कोलंबो में भारतीय दूतावास ने ट्वीट किया, ‘‘भारत-श्रीलंका-मालदीव के बीच समुद्री और सुरक्षा सहयोग पर वार्ता के लिए एनएसए अजित डोभाल कोलंबो पहुंच गए हैं।

इसे भी पढ़ें: अमेरिकी चुनाव के 18 दिन बाद, चीन के शी जिनपिंग ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन को दी बधाई

सैन्य कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल सिल्वा शवेंद्र ने गर्मजोशी से उनका स्वागत किया।’’ श्रीलंका की सेना ने बताया कि डोभाल और मालदीव की रक्षा मंत्री मारिया दीदी वार्ता में अपने अपने देशों का नेतृत्व करेंगे। बांग्लादेश, मॉरीशस और सेशेल्स के पर्यवेक्षक भी रहेंगे। हिंद महासागर क्षेत्र में समुद्री सुरक्षा पर समन्वित कार्रवाई, राहत और बचाव अभियान का प्रशिक्षण, समुद्र में बढ़ते प्रदूषण को लेकर कदम उठाने, सूचनाएं साझा करने, अवैध हथियारों, मादक पदार्थों की तस्करी पर लगाम लगाने जैसे विषयों पर चर्चा होगी।

इसे भी पढ़ें: जो बाइडन ने कहा, मेरा राष्ट्रीय सुरक्षा दल अमेरिका को रखेगा सुरक्षित

नयी दिल्ली में विदेश मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा था कि एनएसए स्तर की त्रिपक्षीय बैठक हिंद महासागर के देशों के बीच सहयोग बढ़ाने के लिए एक प्रभावी मंच हैं। विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा था, ‘‘हिंद महासागर क्षेत्र में समुद्री सुरक्षा को लेकर सहयोग से जुड़े मुद्दों पर चर्चा होगी।’’ इस साल डोभाल का श्रीलंका का यह दूसरा दौरा है। इससे पहले वह जनवरी में श्रीलंका आए थे और दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा की थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




सुलेमानी की हत्या नहीं भूला ईरान, ट्रंप को दी ये चेतावनी!

  •  अभिनय आकाश
  •  जनवरी 22, 2021   20:32
  • Like
सुलेमानी की हत्या नहीं भूला ईरान, ट्रंप को दी ये चेतावनी!

ईरान की तरफ से एक ऐसी तस्वीर साझा की गई है जिससे ट्रंप की जान को खतरा होने के संकते दिए गए हैं। ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामनेई ने डोनाल्ड ट्रंप जैसे दिखने वाले एक गोल्फ खेलते इंसान की तस्वीर साझा की है, जिसे ड्रोन के जरिये टार्गेट किया गया है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का ईरान को लेकर स्टैंड और उसके जनरल कासिम सुलेमानी को मार गिराए जाने की कवायद दुनिया के सामने है। ईरान और अमेरिका के बीच तनाव इतना बढ़ता दिखा कि पूरी दुनिया पर एक समय युद्ध के बादल मंडराने लगे थे। डोनाल्ड ट्रंप ने इस हमले को नेशनल प्राइड की तरह से पेश किया था जबकि ईरान के सर्वोच्च नेता ने इस हमले का बदला लेने की कसम खाई थी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ईरान की तरफ से एक ऐसी तस्वीर साझा की गई है जिससे ट्रंप की जान को खतरा होने के संकते दिए गए हैं। हालांकि बाद में ये एकाउंट सस्पेंड कर दिया गया है। 

इसे भी पढ़ें: डोनाल्ड ट्रंप का Facebook चालू होगा या नहीं? ओवरसाइट बोर्ड करेगा निर्णय

ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामनेई ने डोनाल्ड ट्रंप जैसे दिखने वाले एक गोल्फ खेलते इंसान की तस्वीर साझा की है, जिसे ड्रोन के जरिये टार्गेट किया गया है। तस्वीर में गोल्फ खेल रहे शख्स के बालों का रंग सुनहरा है। इसके साथ ही गोल्फ कोर्स भी कुछ-कुछ वैसा ही  है जैसा कि फ्लोरिडा में ट्रंप के रिजाॅर्ट मार ए लेगो में है। इसके साथ ही ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या का बदला लेने की कसम को दोहराया है। समाचार एजेंसी रायटर्स की खबर के अनुसार खामनेई ने लिखा है कि जिन लोगों ने जनरल सुलेमानी के कत्ल का हुक्म दिया और जिन्होंने इसे अंजाम दिया है उन्हें अंजाम भुगतना होगा। 







भारत के कोरोना गिफ्ट पर शेख हसीना ने पीएम मोदी को कहा धन्यावाद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   18:24
  • Like
भारत के कोरोना गिफ्ट पर शेख हसीना ने पीएम मोदी को कहा धन्यावाद

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने उपहार के रूप में कोविड-19 रोधी टीका उपलब्ध कराने पर मोदी का धन्यवाद व्यक्त किया।ढाका ट्रिब्यून में छपी खबर के अनुसार हसीना ने कहा कि टीकाकरण को किस तरह अंजाम दिया जाएगा, सरकार इस बारे में पहले ही योजना बना चुकी है।

ढाका। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने अपने देश को उपहार के रूप में कोविड-19 रोधी टीके की 20 लाख से अधिक खुराक उपलब्ध कराने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का धन्यवाद व्यक्त किया है। भारत ने बृहस्पतिवार को ‘कोविडशील्ड’ टीके की 20 लाख से अधिक खुराक औपचारिक रूप से बांग्लादेश को सौंपीं। यह टीका भारत निर्मित है। हसीना ने ढाका विश्वविद्यालय के शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में आयोजित एक अंतरराष्ट्रीय ऑनलाइन सम्मेलन में बृहस्पतिवार को कहा, ‘‘मैं उपहार के रूप में टीका भेजने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का धन्यवाद व्यक्त करती हूं।’’

इसे भी पढ़ें: ट्रंप ने बाइडेन के लिए छोड़ा पत्र, क्या अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को करेंगे फोन?

ढाका ट्रिब्यून में छपी खबर के अनुसार हसीना ने कहा कि टीकाकरण को किस तरह अंजाम दिया जाएगा, सरकार इस बारे में पहले ही योजना बना चुकी है। हसीना ने कहा, ‘‘हमने देश में कोविड-19 संबंधी स्थिति का सामना करने के लिए सभी कदम उठाए हैं।’’ उपहार के रूप में मिली टीके की खेप के अतिरिक्त बांग्लादेश भारत से कोरोना वायरस रोधी टीके की तीन करोड़ खुराक की खरीद भी करनेवाला है। हसीना ने उम्मीद जताई कि भारत से बांग्लादेश द्वारा खरीदे गए टीके 25-26 जनवरी तक पहुंच जाएंगे। बांग्लादेश में महामारी की वजह से अब तक 7,966लोगों की मौत हुई है और अब तक संक्रमण की चपेट में आए लोगों की संख्या 5,30,270 है। भारत ने बृहस्पतिवार को नेपाल को भी कोविड रोधी टीके की 10 लाख खुराक सौंपीं। बुधवार को भारत ने टीके की 1,50,000 खुराक भूटान को तथा 100,000खुराक मालदीव को सौंपी थीं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




रूस ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के इस प्रस्ताव का किया स्वागत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   18:16
  • Like
रूस ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के इस प्रस्ताव का किया स्वागत

रूस ने अमेरिका के साथ परमाणु संधि की अवधि विस्तारित करने के बाइडन के प्रस्ताव का स्वागत किया।व्हाइट हाउस ने बृहस्पतिवार को कहा था कि बाइडन ने रूस को ‘न्यू स्टार्ट ’ संधि की अवधि पांच साल के लिए विस्तारित करने का प्रस्ताव दिया है।

मास्को। रूसी राष्ट्रपति भवन ‘क्रेमलिन’ ने अमेरिका के साथ परमाणु हथियार नियंत्रण संधि की अवधि विस्तारित करने के अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रस्ताव का स्वागत किया है। इस संधि की समय सीमा दो हफ्ते से भी कम समय में समाप्त होने जा रही है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के प्रवक्ता दमित्री पेस्कोव ने कहा कि रूस इस संधि की अवधि विस्तारित करने के पक्ष में है और वह अमेरिकी प्रस्ताव के विवरण को देखना चाहता है।

इसे भी पढ़ें: ट्रंप ने बाइडेन के लिए छोड़ा पत्र, क्या अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को करेंगे फोन?

व्हाइट हाउस ने बृहस्पतिवार को कहा था कि बाइडन ने रूस को ‘न्यू स्टार्ट ’ संधि की अवधि पांच साल के लिए विस्तारित करने का प्रस्ताव दिया है। इस संधि पर 2010 में अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा और रूस के तत्कालीन राष्ट्रपति दमित्री मेदवेदेव ने हस्ताक्षर किये थे। संधि के तहत प्रत्येक देश 1,550 से अधिक तैनात परमाणु आयुध नहीं रख सकता। इस संधि की समय सीमा पांच फरवरी को समाप्त हो रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept