NSA बैठक पर तालिबान के प्रवक्ता ने जारी किया बयान, कहा- भारत अहम देश, अच्छे संबंध चाहते हैं

NSA बैठक पर तालिबान के प्रवक्ता ने जारी किया बयान, कहा- भारत अहम देश, अच्छे संबंध चाहते हैं

तालिबान ने भारत में अफगानिस्तान को लेकर हो रहे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) स्तर की बैठक को लेकर भी बात की। यह बैठक बुधवार को NSA अजीत डोभाल की अध्यक्षता में भारत में आयोजित की गई थी जिसमें सात देशों के सुरक्षा सलाहकार भी मौजुद थे।

अफगानिस्तान की सत्ता पर शासन कर रहे तालिबान ने भारत को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। बता दें कि, तालिबान ने भारत को क्षेत्र का सबसे अहम और महत्वपूर्ण देश बताया है। तालिबान समूह ने भारत सरकार के साथ अच्छे राजनायिक संबंध बनाने की भी बात की हैं। इसके अलावा तालिबान ने भारत में अफगानिस्तान को लेकर हो रहे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) स्तर की बैठक को लेकर भी बात की। यह बैठक बुधवार को NSA अजीत डोभाल की अध्यक्षता में भारत में आयोजित की गई थी जिसमें सात देशों के सुरक्षा सलाहकार भी मौजुद थे।

क्या कुछ कहा तालिबान के प्रवक्ता ने भारत को लेकर?

तालिबान के प्रवक्ता  जबीउल्लाह मुजाहिद (Zabihullah Mujahid) ने कहा कि, भारत द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार की बैठक में भले ही तालिबान शामिल नहीं हुआ था लेकिन यह बैठक अफगानिस्तान के हित में की गई थी। कई देश इस समय अफगानिस्तान के हालात पर विचार कर रहा है और इस बैठक में शामिल हुए सात देश भी अफगानिस्तान की सुरक्षा और सरकार को बेहतर करने में मदद करने के लिए विचार कर रहे हैं। प्रवक्ता ने ‘इस्लामिक अमीरात अफगानिस्तान की नीति’ को एक बार फिर दोहराया और कहा कि, देश की जमीन का इस्तेमाल किसी देश के खिलाफ नहीं किया जाएगा और तालिबान भी एक आपसी सहयोग चाहता हैं। 

इसे भी पढ़ें: भारत ने अफगानिस्तान को तत्काल मानवीय सहायता पहुंचाने पर जोर दिया

बता दें कि, यह बैठक 10 नवंबर को हुई थी जिसमें भारत सरकार ने कहा था कि, वह अफगानिस्तान को मानवीय सहायता पहुंचाने के लिए बिल्कुल भी प्रतिबद्ध हैं लेकिन भारत सरकार ने यह भी माना था कि, अफगानिस्तान में मदद पहुंचाना इस दौरान मुश्किल बने हुए हैं क्योंकि, अफगानिस्तान तक सड़क के रास्ते अनाज पहुंचाने के लिए भारत ने पाकिस्तान से मंजूरी मांगी है जिसका अभी तक कोई जवाब नहीं आया है। भारत के विदेश मंत्रालय से एक बयान जारी किया गया था जिसमें कहा था कि, अफगानिस्तान को भारत का पूरा समर्थन मिलेगा और भारत सभी लोगों की मदद कर रहा हैं। बुधवार को आयोजित की गई इस बैठक में अजित डोभाल ने कहा कि, इस वार्ता का आयोजन भारत में होना एक सौभागय की बात है और अफगानिस्तान की हर एक चीज पर बारीकी से नजर रख रहे हैं। अफगानिस्तान के लोगों के साथ इसके पड़ोसी देशों पर भी इसका प्रभाव पड़ेगा। उन्होनें कहा कि, मुझे भरोसा है कि, हमारा विचार विमर्श अफगानिस्तान के लोगों की मदद और हमारी सुरक्षा में योगदान देगा। 






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...