2019 में भारत पर परमाणु बम गिराने वाला था पाकिस्तान, अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने किया दावा

India-Pakistan
Prabhasakshi
रेनू तिवारी । Jan 25, 2023 11:54AM
अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने दावा किया है कि वह अपनी तत्कालीन भारतीय समकक्ष सुषमा स्वराज से बात करने के वाले थे। उस समय सुषमा स्वराज ने उन्हें बताया था कि पाकिस्तान फरवरी 2019 में बालाकोट सर्जिकल स्ट्राइक के मद्देनजर परमाणु हमले की तैयारी कर रहा है और भारत अपनी तैयारी कर रहा है।

भारत द्वारा पाकिस्तान पर की गयी बालाकोट सर्जिकल स्ट्राइक एक बार फिर चर्चा में हैं। अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने बालाकोट सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर कुछ दावे किए हैं। उन्होंने कहा कि 2019 में बालाकोट सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान भारत और अमेरिका के बीच रिश्ते इतने बिगड़ गये थे कि बात परमाणु हमले तक पहुंच गयी थी, पाकिस्तान भारत पर परमाणु हमला करने वाला था। भारत और पाकिस्तान के बीच 1947 से ही रिश्ते कभी ठीक नहीं रहे हैं। अब तक दोनों देशों के बीच 4 युद्ध हो चुके हैं। 

 

इसे भी पढ़ें: युवती को प्रेमी से करनी थी शादी, रिश्तेदार के घर लाखों की चोरी को दिया अंजाम, तालश में जुटी पुलिस

 

 पोम्पियो का दावा- भारत और पाकिस्तान में होने वाला था परमाणु युद्ध 

अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने दावा किया है कि वह अपनी तत्कालीन भारतीय समकक्ष सुषमा स्वराज से बात करने के वाले थे। उस समय सुषमा स्वराज ने  उन्हें बताया था कि पाकिस्तान फरवरी 2019 में बालाकोट सर्जिकल स्ट्राइक के मद्देनजर परमाणु हमले की तैयारी कर रहा है और भारत अपनी तैयारी कर रहा है।  बाजार में आई अपनी नई किताब 'नेवर गिव एन इंच: फाइटिंग फॉर द अमेरिका आई लव' में पोम्पियो ने कहा कि यह घटना तब हुई जब वह 27-28 फरवरी को अमेरिका-उत्तर कोरिया शिखर सम्मेलन के लिए हनोई में थे और उनकी टीम ने इस संकट को टालने के लिए नई दिल्ली और इस्लामाबाद दोनों के साथ रात भर काम किया। पोम्पेओ लिखते हैं “मुझे नहीं लगता कि दुनिया ठीक से जानती है कि भारत-पाकिस्तान प्रतिद्वंद्विता फरवरी 2019 में परमाणु हमले के कितनी करीब आ गई थी। सच तो यह है, मुझे इसका ठीक-ठीक उत्तर भी नहीं पता है। मैं बस इतना जानता हूं कि परमाणु हमले होने वाला ही थी।

 

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi NewsRoom: Mike Pompeo का दावा- परमाणु युद्ध के करीब आ गये थे भारत और पाकिस्तान

 

बालाकोट हमला लेने वाला था भयानक रूप 

भारत के युद्धक विमानों ने पुलवामा आतंकी हमले के जवाब में फरवरी 2019 में पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर पर बमबारी की, जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। पोम्पेओ कहते हैं कि "मैं उस रात को कभी नहीं भूलूंगा जब मैं हनोई, वियतनाम में था - जैसे कि परमाणु हथियारों पर उत्तर कोरियाई लोगों के साथ बातचीत करना पर्याप्त नहीं था - भारत और पाकिस्तान ने उत्तरी सीमा पर दशकों से चल रहे कश्मीर विवाद के सिलसिले में एक-दूसरे को धमकी देना शुरू कर दिया। कश्मीर में एक इस्लामी आतंकवादी हमले के बाद - शायद पाकिस्तान की ढीली आतंकवाद विरोधी नीतियों के कारण - चालीस भारतीयों की मौत हो गई, भारत ने पाकिस्तान के अंदर आतंकवादियों के खिलाफ हवाई हमले का जवाब दिया। पाकिस्तानियों ने बाद में हवाई लड़ाई में एक विमान को मार गिराया और भारतीय पायलट को बंदी बना लिया। 

 

सुषमा स्वराज से की थी बात

अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा कि हनोई में, मैं अपने भारतीय समकक्ष के साथ बात करने के लिए जागा था। उनका मानना था कि पाकिस्तानियों ने हमले के लिए अपने परमाणु हथियार तैयार करना शुरू कर दिया था। उन्होंने मुझे बताया कि भारत अपनी खुद की वृद्धि पर विचार कर रहा है। मैंने उनसे कुछ नहीं करने को कहा और चीजों को सुलझाने के लिए हमें एक मिनट का समय दिया। मैंने राजदूत (तत्कालीन राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन) बोल्टन के साथ काम करना शुरू किया, जो मेरे साथ हमारे होटल में सुरक्षित संचार सुविधा में थे। मैं पाकिस्तान के वास्तविक नेता, (सेना प्रमुख) जनरल (क़मर जावेद) बाजवा के पास पहुंचा, जिनके साथ मैंने कई बार सगाई की थी। मैंने उन्हें वह बताया जो भारतीयों ने मुझे बताया था। उन्होंने कहा कि यह सच नहीं है।'

59 वर्षीय शीर्ष पूर्व अमेरिकी राजनयिक ने अपनी किताब में लिखा "जैसा कि कोई उम्मीद कर सकता है, उनका मानना ​​था कि भारतीय तैनाती के लिए अपने परमाणु हथियार तैयार कर रहे थे। हमें कुछ घंटों का समय लगा - और नई दिल्ली और इस्लामाबाद में जमीन पर हमारी टीमों द्वारा उल्लेखनीय अच्छा काम - प्रत्येक पक्ष को समझाने के लिए कि दूसरा परमाणु युद्ध की तैयारी नहीं कर रहा था। पोम्पेओ के दावों पर विदेश मंत्रालय की ओर से तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की गई।

अन्य न्यूज़