थनबर्ग से मिलना पसंद करते डोनाल्ड ट्रंप, बोले- सिर्फ US पर नहीं निकलना चाहिए था गुस्सा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 23, 2020   09:12
थनबर्ग से मिलना पसंद करते डोनाल्ड ट्रंप, बोले- सिर्फ US पर नहीं निकलना चाहिए था गुस्सा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को कहा कि वह स्वीडन की पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग से मिलना पसंद करते लेकिन उन्हें अपना गुस्सा सिर्फ अमेरिका पर नहीं निकालना चाहिए। ट्रंप ने विश्व आर्थिक मंच में मंगलवार को दिए गए भाषण में पर्यावरण संरक्षण से जुड़े अभियानकर्ताओं पर हमला करते हुए उन्हें ‘विनाश के मसीहा’ करार दिया।

दावोस। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को कहा कि वह स्वीडन की पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग से मिलना पसंद करते लेकिन उन्हें अपना गुस्सा सिर्फ अमेरिका पर नहीं निकालना चाहिए। ट्रंप ने संवाददाता से लग्जरी स्विस रिजॉर्ट से बाहर निकलते हुए कहा, ‘‘ मुझे उससे मिलना अच्छा लगता।’’ राष्ट्रपति ने दावा किया कि दुनिया में अमेरिका से ज्यादा बड़े प्रदूषक देश हैं और ग्रेटा को अपना ध्यान उन स्थानों पर केंद्रित करना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: ट्रंप के खिलाफ सीनेट में महाभियोग पर चर्चा शुरू,आपस में भिड़े डेमोक्रेट और रिपब्लिकन

ट्रंप ने विश्व आर्थिक मंच में मंगलवार को दिए गए भाषण में पर्यावरण संरक्षण से जुड़े अभियानकर्ताओं पर हमला करते हुए उन्हें ‘विनाश के मसीहा’ और ‘बीते जमाने के मुर्ख भविष्यवक्ताओं के वंशज’ करार दिया है। इस पूरे भाषण के दौरान थनबर्ग चुपचाप बैठी रहीं।

इसे भी देखें: US-China Trade Deal से किसको होगा फायदा ? जानिये इस समझौते की मुख्य बातें





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।