हमारा भारत हमारी शान पुस्तक सामान्य ज्ञान का खजाना (पुस्तक समीक्षा)

हमारा भारत हमारी शान पुस्तक सामान्य ज्ञान का खजाना (पुस्तक समीक्षा)

पुस्तक में भारत के समस्त राज्यों एवं केंद्र शासित राज्यों को आधार बना कर बहुत ही सरल भाषा में लिखा गया है। प्रत्येक राज्य की कला, संस्कृति एवं पर्यटन पुस्तक की मुख्य विषय वस्तु है।

राजस्थान के लेखकों के बीच  लेखक एवं वरिष्ठ पत्रकार डॉ.प्रभात कुमार सिंघल ने पिछले सात-आठ वर्षो में जिस तेजी से हिंदी भाषा में पुस्तकें लिखने में अपना विशिष्ठ स्थान बनाया हैं, वे आज स्थापित और नामचीन लेखकों में गिने जाने लगे हैं। वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी के रूप में वे विभाग का गौरव बने वहीं लेखन के क्षेत्र में भी अपनी कलम का लोहा मनवाया। हिंदी दिवस पर हाल ही में जारी हुई उनकी 23 वीं पुस्तक "हमारा भारत हमारी शान" देखने और पढ़ने का अवसर मिला। ए 5 आकर में  436 पृष्ठों में लिखी गई इस पुस्तक को भारत के सन्दर्भ में सामान्य ज्ञान का खजाना कहे तो अतिशयोक्ति नहीं होगी।

इसे भी पढ़ें: वर्चुअल पुस्तक मेले पर चर्चा (व्यंग्य)

पुस्तक में भारत के समस्त राज्यों एवं केंद्र शासित राज्यों को आधार बना कर बहुत ही सरल भाषा में लिखा गया है। प्रत्येक राज्य की कला, संस्कृति एवं पर्यटन पुस्तक की मुख्य विषय वस्तु है। साथ ही सार रूप से इतिहास, भूगोल, वन, नदियां, वन्यजीव, खनिज, हस्तशिल्प आदि महत्वपूर्ण जानकारियां भी शामिल हैं। तथ्यों का निरूपण जिस प्रकार लिया गया है उससे यह देश के सन्दर्भ में एक अच्छा साइक्लोपिडया बन गया है। पर्यटन की दृष्टि से भारत के संपूर्ण पर्यटन स्थलों का स्वरूप, ऐतिहासिक महत्व, मनोरंजन, रमणीयणता, आकर्षण आदि की जानकारी का रोचकता से समावेश किया गया हैं।

इसे भी पढ़ें: राज्यपाल ने हाई आन कसोल पुस्तक का विमोचन किया

पर्यटक स्थलों के बारे में पर्यटन को प्रोत्साहित करने के साथ-साथ पुस्तक विद्यार्थियों की प्रतियोगी परीक्षा में सहायक रहेगी। पुस्तक का मूल्य भी बहुत वाजिब 440 रू. रखा गया है। मुख्य आमुख पृष्ठ आकर्षक है। पुस्तक का प्रकाशन मुंबई के वी. एस. आर. डी. एकेडमिक पब्लिशिंग हाउस द्वारा किया गया हैं।

समीक्षक- डॉ.दीपक श्रीवास्तव

अधीक्षक, राजकीय सार्वजनिक मंडल पुस्तकालय,

कोटा (राजस्थान)