अस्पताल से 14 वर्षीय बालिका का अपहरण, आरोपी निकला प्रेमी एक घंटे के अंदर गिरफ्तार

अस्पताल से 14 वर्षीय बालिका का अपहरण, आरोपी निकला प्रेमी एक घंटे के अंदर गिरफ्तार

इसी दौरान उसकी पुत्री का किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा अपहरण कर लिया गया है। फरियादी की रिर्पोट पर तत्काल कार्यवाही करते हुये अज्ञात आरोपी के विरूद्ध थाना करेली में अपराध क्रमांक 1200/2020 धारा 363 भादवि कायम कर विवेचना में लिया गया।

नरसिंहपुर। मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले के करेली थाना अंतर्गत अस्पताल में इलाज करवाने आई एक महिला की 14 वर्षीय पुत्री के अपहरण का मामला सामने आया था। जिसे एक घंटे के अंदर ही अपहरणकर्ता के चंगुल से छुड़ा लिया गया। 

फरियादी महिला द्वारा रिपोर्ट दर्ज कराई गई कि वह अपनी 14 वर्षीय पुत्री के साथ इलाज हेतु करेली अस्पताल आयी थी। इसी दौरान उसकी पुत्री का किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा अपहरण कर लिया गया है। फरियादी की रिर्पोट पर तत्काल कार्यवाही करते हुये अज्ञात आरोपी के विरूद्ध थाना करेली में अपराध क्रमांक 1200/2020 धारा 363 भादवि कायम कर विवेचना में लिया गया।

 

इसे भी पढ़ें: विचाराधीन कैदी की आत्महत्या पर आयोग ने दिए पांच लाख हर्जाने के आदेश

वही थाना करेली पुलिस की टीम द्वारा अपहरित नाबालिग की तलाश एवं आरोपी की पतासाजी हेतु तत्काल कार्यवाही करते हुए आसपास के क्षेत्रों में तलाश की गयी एवं अपहरित के संबंध में बरीकी से तस्दीक करने पर ज्ञात हुआ कि अपहरित नाबालिग ने किसी लडके से फोन के माध्यम से संपर्क किया गया था। जानकारी प्राप्त होते ही अपरहित नाबालिग और अज्ञात आरोपी की पतासाजी हेतु मुखबिरों को सक्रीय किया गया, जिसके परिणाम स्वरूप अपृहता एवं अज्ञात आरोपी के संबंध में जानकारी प्राप्त हुई कि उक्त दोनों कही बाहर भागने के फिराक में है।

 

इसे भी पढ़ें: लॉकडाउन में अनेक पुरस्कार जीतने वाली रिया जैन इंडिया बुक रिकॉर्डस में दर्ज

मुखबिर से प्राप्त सूचना के आधार पर तत्काल कार्यवाही करते हुए थाना करेली पुलिस द्वारा घेराबंदी की गयी जिसके परिणाम स्वरूप राममंदिर करेली रोड पर नाबालिक अपृहता को सुरक्षित दस्तयाव करने में सफलता प्राप्त हुई। अपृहता की दस्तयावी उपरान्त उसका अपहरण कर ले जाने वाले आरोपी ऐजाज पिता रहीम बेहना निवासी लिंगा पिपरिया को गिरफ्तार किया गया।

 

इसे भी पढ़ें: स्मैक रखने के आरोप में 4 साल की कठोर सज़ा के साथ दस हजार का हुआ जुर्माना

प्रकरण में नाबालिग की दस्तयावी उपरान्त उससे तस्दीक कर आरोपी ऐजाज बेहन के विरूद्ध प्रकरण में धारा 366 ए, 354,भादवि व 7, 8 पॉक्सो एक्ट का इजाफा किया गया है। प्रकरण में नाबालिक अपृहता एवं अज्ञात आरोपी की पतासाजी कर गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी करेली अनिल सिंधई, उनि दीप्ति मिश्रा, आरक्षक कुलदीप सोमकुवर, आरक्षक सतेन्द्र बागरी, महिला आरक्षक ज्योति दुबे की मुख्य भूमिका रही है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।