7 लाख से ज्यादा किसानों से 36.07 लाख टन गेहूँ, 7125.15 करोड़ रुपए में खरीदे गए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 26, 2021   10:40
7 लाख से ज्यादा किसानों से 36.07 लाख टन गेहूँ, 7125.15 करोड़ रुपए में खरीदे गए

प्रदेश में खाद्य एवं रसद विभाग तथा अन्य क्रय एजेन्सियों के लगभग 5678 क्रय केन्द्र संचालित हैं, अब तक 721873 किसानों से कुल 36.07 लाख टन गेहूँ, 7125.15 करोड़ रू की खरीद की गई है।

रबी विपणन वर्ष 2021-22 में न्यूनतम समर्थन मूल्य योजनान्तर्गत 01 अप्रैल, 2021 से गेहूँ खरीद की जा रही है। प्रदेश में खाद्य एवं रसद विभाग तथा अन्य क्रय एजेन्सियों के लगभग 5678 क्रय केन्द्र संचालित हैं, अब तक 721873 किसानों से कुल 36.07 लाख टन गेहूँ, 7125.15 करोड़ रू की खरीद की गई है, जबकि गतवर्ष पूरी क्रय अवधि में कुल 35.76 लाख टन खरीद की गयी थी, इस प्रकार गतवर्ष से अधिक खरीद की गयी है।

यह जानकारी प्रदेश के खाद्य एवं रसद आयुक्त मनीष चैहान ने दी उन्होंने बताया कि एजेन्सीवार खरीद - खाद्य विभाग- 9.22 लाख टन, पीसीएफ-16.68 लाख टन, पीसीयू-4.43 लाख टन, एसएफसी-0.82 लाख टन, यूपीएसएस-3.06 लाख टन, मण्डी परिषद-0.92 लाख टन एवं भाखानि-0.94 लाख टन की खरीद की गयी है। पारदर्शी खरीद सुनिश्चित किये जाने हेतु इस वर्ष प्रदेश में पहली बार ई-पॉप (इलेक्ट्रानिक प्वाइण्ट ऑफ परचेज) डिवाइस से खरीद की जा रही है, जिसके अन्तर्गत किसानों का बायोमैट्रिक ऑथेन्टिकेशन, आधार प्रमाणीकरण कराते हुये गेहूँ की खरीद की जा रही है। किसानों की सुविधा के लिए ऑनलाइन टोकेन की व्यवस्था की गयी है। यदि कोई किसान स्वयं केन्द्र पर बिक्री हेतु जाने में असमर्थ है तो पंजीकरण के समय परिवार के सदस्य को नामित कर सकता है। इस वर्ष रिकॉर्ड 1438624 किसानों द्वारा ऑनलाइन पंजीकरण कराया गया है, जबकि गतवर्ष कुल 794484 किसानों ने ही पंजीकरण कराया था।

खाद्य एवं रसद आयुक्त ने बताया कि क्रय केन्द्रों पर किसानों के बैठने के लिए छाया व पीने के पानी की समुचित व्यवस्था की गयी है तथा कोविड-19 महामारी के संक्रमण से बचाव हेतु साबुन, पानी व सैनेटाइजर इत्यादि की व्यवस्था की गयी है। कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराते हुये कृषक हित में खरीद की जा रही है। इस वर्ष गेहॅू का समर्थन मूल्य 1975 रू प्रति कुं. निर्धारित किया गया है। खरीद 15 जून, 2021 तक जारी रहेगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...