जीए मीर और कई अन्य वरिष्ठ नेताओं को किया गया नजरबंद: रवींद्र शर्मा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 31, 2019   15:49
जीए मीर और कई अन्य वरिष्ठ नेताओं को किया गया नजरबंद: रवींद्र शर्मा

कांग्रेस नेता ने दावा किया कि जम्मू क्षेत्र और दक्षिण कश्मीर के विभिन्न भागों की प्रस्तावित यात्रा से पहले यहां पार्टी प्रदेश अध्यक्ष जीएमीर, कई अन्य वरिष्ठनेताओं को नजरबंद कर दिया गया। जेकेपीसीसी प्रवक्ता रवीन्द्र शर्मा ने कहा कि मीर के साथ पूर्व उपमुख्यमंत्री तारा चंद और वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री रमन भल्ला को सुबह यहां नजरबंद किया गया।

जम्मू। कांग्रेस के एक नेता ने मंगलवार को दावा किया कि जम्मू क्षेत्र और दक्षिण कश्मीर के विभिन्न भागों की प्रस्तावित यात्रा से पहले यहां पार्टी की जम्मू कश्मीर इकाई के अध्यक्ष जीएमीर और कई अन्य वरिष्ठनेताओं को नजर बंदकर दिया गया। जम्मू कश्मीर प्रदेश कांग्रेस कमेटी (जेकेपीसीसी) के मुख्य प्रवक्ता रवीन्द्र शर्मा ने कहा कि मीर के साथ पूर्व उपमुख्यमंत्री तारा चंद और वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री रमन भल्ला को सुबह यहां नजरबंद किया गया।

इसे भी पढ़ें: कश्मीर घाटी में शीत लहर से मिली राहत, नए साल में हो सकती है बर्फबारी

उन्होंने बताया कि पुलिस ने कई अन्य पूर्व विधायकों, मंत्रियों और युवा नेताओं को अपने घरों से बाहर नहीं निकलने के निर्देश दिये हैं। पुलिस अधिकारी इसकी पुष्टि के लिए तत्काल उपलब्ध नहीं हो सके है। मीर ने कहा, ‘‘हमने जम्मू क्षेत्र और दक्षिण कश्मीर के भागों की यात्रा करने का फैसला किया था और इसके लिए सरकार के पास एक औपचारिक अनुरोध भेजा था। हमें अनुमति दी गई थी। लेकिन आज सुबह जब हम यात्रा के लिए रवाना होने वाले थे, तो मेरे और अन्य नेताओं के घरों पर पुलिस मौजूद थी। उन्होंने हमसे कहा कि हम नजरबंद हैं।’’

उन्होंने कहा कि उनके नेतृत्व में पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल को उधमपुर, रामबन और दक्षिण कश्मीर समेत विभिन्न क्षेत्रों में पार्टी कार्यकर्ताओं से मिलने जाना था। उन्होंने कहा, ‘‘जब हमने उन्हें पत्र लिखा था तो पुलिस और सरकार को अनुमति नहीं देने के संबंध में हमें एक औपचारिक पत्र भेजना चाहिए था।’’

इसे भी पढ़ें: जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने संभाली सेना की कमान, बिपिन रावत की जगह ली

इस कार्यवाही के लिए प्रशासन की निंदा करते हुए शर्मा ने कहा, ‘‘एक तरफ तो सरकार जम्मू कश्मीर में सामान्य स्थिति होने का दावा करती है और वहीं दूसरी ओर वे राजनीतिक गतिविधि के लिए विपक्ष को अनुमति नहीं दे रहे हैं। सामान्य स्थिति होने का उनका दावा खोखला है।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।