ओडिशा के ब्रह्मपुर में बस पलटने से आठ लोगों की मौत, 34 जख्मी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 29, 2020   15:09
ओडिशा के ब्रह्मपुर में बस पलटने से आठ लोगों की मौत, 34 जख्मी

ओडिशा के गंजाम जिले में बुधवार तड़के एक बस के पलट कर पहाड़ी सड़क से नीचे गिर जाने से आठ लोगों की मौत हो गई और 34 अन्य घायल हो गए। रायगढ़ा जिले के टिकिरी से ब्रह्मपुर जा रही एक निजी बस तपतापानी के पास पलट गई और सड़क से कम से कम 30 फुट नीचे गिर गई।

ब्रह्मपुर। ओडिशा के गंजाम जिले में बुधवार तड़के एक बस के पलट कर पहाड़ी सड़क से नीचे गिर जाने से आठ लोगों की मौत हो गई और 34 अन्य घायल हो गए। गंजाम के जिला अधिकारी विजय अमृत कुलंगे ने बताया कि रायगढ़ा जिले के टिकिरी से ब्रह्मपुर जा रही एक निजी बस तपतापानी के पास पलट गई और सड़क से कम से कम 30 फुट नीचे गिर गई। गंजाम के पुलिस अधीक्षक (एसपी) बृजेश कुमार राय ने बताया कि शुरू में दुर्घटना में छह लोगों के मरने का पता चला। लेकिन बुरी तरह से क्षतिग्रस्त बस की गहन जांच के बाद दो और शव मिले।

इसे भी पढ़ें: अनियंत्रित ट्रक ने बाइक को मारी टक्कर, तीन युवकों की मौत

एसपी ने बताया कि बचाव अभियान पूरे जोर शोर से चल रहा था जो अब पूरा हो गया है। मुख्यमंत्री कार्यालय में एक अधिकारी ने बताया कि ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने मरने वालों के आश्रितों के लिए दो-दो लाख रुपये की अनुग्रह राशि की घोषणा की। घायलों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं जिन्हें ब्रह्मपुर में दिगापहंडी अस्पताल और एमकेसीजी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने बताया कि 34 घायलों में से आठ लोगों की हालत गंभीर बताई जाती है।

एक घायल शख्स को बाद में कटक के एससीबी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भेजा गया। राज्य के प्रमुख दमकल अधिकारी सुकांत सेठी ने बताया कि मोहना, सनखेमुंडी, दिगापहंडी और ब्रह्मपुर से दमकल की चार टीमों को बचाव अभियान में लगाया गया है। उन्होंने बताया कि उप दमकल अधिकारी घटनास्थल पर बचाव अभियान की निगरानी कर रहे हैं। राज्य के परिवहन मंत्री पद्मनाभ बेहेरा ने कहा कि बस के पलटकर सड़क से नीचे गिरने की परिस्थितियों को सुनिश्चित करने के लिए गहन जांच की जाएगी।

इसे भी पढ़ें: गडकरी की चेतावनी, कहा- फाइलें दबा कर बैठने वाले अधिकारियों को बाहर का दरवाजा दिखाएंगे

उन्होंने बताया कि दुर्घटना के कारणों की जांच के लिए विशेष टीम गठित की जाएगी। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी (आरटीओ) और मोटर वाहन निरीक्षक (एमवीआई) वाहन के दस्तावेजों की जांच करेंगे। मंत्री ने आशंका जताई कि संभवत: घने कोहरे के कारण खराब दृश्यता की वजह से यह दुर्घटना हुई। विस्तृत जांच के बाद ही दुर्घटना के वास्तविक कारण का पता चल पाएगा। जांच में यह भी पता किया किया जाएगा कि क्या वाहन ने कोहरे की हालत में यात्रा के लिए तय मानकों का पालन किया था। मंत्री ने कहा, ‘‘फिलहाल हमारी प्राथमिकता दुर्घटना में घायल लोगों का समुचित इलाज सुनिश्चित करना है।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।