संजय सिंह की EC से मांग, कहा- अमित शाह और भाजपा के खिलाफ करें कार्रवाई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 29, 2020   20:08
संजय सिंह की EC से मांग, कहा- अमित शाह और भाजपा के खिलाफ करें कार्रवाई

AAP के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने राष्ट्रीय सचिव पंकज गुप्ता के साथ बुधवार को चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाया। संजय सिंह ने कहा कि हमने गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के खिलाफ एक फर्जी वीडियो प्रसारित करने और केजरीवाल सरकार के खिलाफ फर्जी प्रचार का सहारा लेने के लिए एक ज्ञापन सौंपा है।

नयी दिल्ली। AAP के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने राष्ट्रीय सचिव पंकज गुप्ता के साथ बुधवार को चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाया। दोनों लोगों ने  गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ उनके अभियान पर प्रतिबंध लगाने, स्कूलों के फर्जी वीडियो प्रसारित करने और दिल्ली के बच्चों का अपमान करने के लिए कार्रवाई करने की मांग की। 

इसे भी पढ़ें: आप नेता संजय सिंह ने गृहमंत्री अमित शाह को कहा- 'भाई तू बस का कंडक्टर है'

ज्ञात हो कि गृह मंत्री ने मंगलवार को अपने ट्विटर अकाउंट पर दिल्ली सरकार के एक स्कूल का फर्जी वीडियो प्रसारित किया था। बीजेपी के लोकसभा सांसद गौतम गंभीर ने निर्माणाधीन एक सरकारी स्कूल के एक वीडियो को AAP को खराब रोशनी में दिखाने का प्रयास करते हुए ट्वीट किया था। हालांकि, अपने उत्साह में वह स्कूल के गेट पर लगे नोटिस को देखना भूल गए। जिसमें उल्लेख किया गया था कि स्कूल अक्टूबर 9, 2019 को SBV JJ कॉलोनी में शिफ्ट किया जा रहा है, क्योंकि उसका भवन पुराना हो गया है।

इसे भी पढ़ें: सीएए-NRC पर विपक्षों दलों की बैठक में AAP ने किया किनारा

AAP नेताओं ने चुनाव आयोग से मुलाकात की और मांग की कि चुनाव आयोग फर्जी खबरें फैलाने के लिए गृह मंत्री के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करे। संजय सिंह ने कहा कि हमने गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के खिलाफ एक फर्जी वीडियो प्रसारित करने और केजरीवाल सरकार के खिलाफ फर्जी प्रचार का सहारा लेने के लिए एक ज्ञापन सौंपा है, बीजेपी के ऐसे झूठे प्रचारों पर चुनाव आयोग को कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।