स्मृति ईरानी ने राष्ट्रपति के लिए नहीं किया मैडम या श्रीमती का इस्तेमाल, अधीर रंजन ने लोकसभा अध्यक्ष से की कार्रवाई की मांग

Adhir Ranjan
ANI Image
कांग्रेस नेता अधीर रंजन ने स्मृति ईरानी के संदर्भ में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से कहा कि मैं मांग करता हूं कि जिस तरह से वे राष्ट्रपति को संबोधित कर रही थीं, उन्हें हटाया जाए। इसी के साथ ही अधीर रंजन ने पत्र में सोनिया गांधी और स्मृति ईरानी के बीच हुई नोकझोंक का भी जिक्र किया।

नयी दिल्ली। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से आपत्तिजनक टिप्पणी विवाद को लेकर माफी मांगी है। इसके साथ ही उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने पत्र में लिखा कि स्मृति ईरानी राष्ट्रपति के नाम के आगे माननीय राष्ट्रपति या मैडम या श्रीमती के बिना बार-बार द्रौपदी

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रपत्नी टिप्पणी को लेकर अधीर रंजन ने महामहिम से मांगी माफी, बोले- यह जुबान फिसलने की वजह से हुआ 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, कांग्रेस नेता अधीर रंजन ने स्मृति ईरानी के संदर्भ में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से कहा कि मैं मांग करता हूं कि जिस तरह से वे राष्ट्रपति को संबोधित कर रही थीं, उन्हें हटाया जाए। इसी के साथ ही अधीर रंजन ने पत्र में सोनिया गांधी और स्मृति ईरानी के बीच हुई नोकझोंक का भी जिक्र किया।

कांग्रेस नेता ने पत्र में लिखा कि स्मृति ईरानी ने सोनिया गांधी के साथ बहुत अनुचित व्यवहार किया और अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया। सोनिया गांधी को मौखिक हमले और शारीरिक धमकी का शिकार होना पड़ा। सत्ताधारी दल ने सदन में उनके लिए शत्रुतापूर्ण माहौल बना दिया। उन्होंने कहा कि मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि चूंकि सोनिया गांधी का इस विवाद से कोई लेना-देना नहीं था, इसलिए उनके नाम का उल्लेख करने वाले पूरे प्रकरण को भी हटा दिया जाए।

इसे भी पढ़ें: 'द्रौपदी मुर्मू को कांग्रेस ने पहले भी किया अपमानित', प्रह्लाद जोशी बोले- बिना शर्त माफी मांगे अधीर रंजन 

राष्ट्रपति से मांगी माफी

अधीर रंजन ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि यह जुबान फिसलने की वजह से हुआ। मैं माफी मांगता हूं और आपसे अनुरोध करता हूं कि आप इसे स्वीकार करें। इसके साथ ही कांग्रेस नेता ने शनिवार को राष्ट्रपति से मिलने के लिए समय मांगा है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़