एक रात बाद जीवित हो उठी मुर्दाघर के फ्रीजर में रखी लाश, जानिए क्या है पूरी घटना

एक रात बाद जीवित हो उठी मुर्दाघर के फ्रीजर में रखी लाश, जानिए क्या है पूरी घटना

पुलिस ने मृतक के परिवार वालों के इंतजार में शव को मुर्दाघर में रखा दिया। परिवार के लोगों के पहुंचने के बाद जब जब पुलिस की एक टीम शव परीक्षण के लिए कागजी कार्रवाई शुरू करने के लिए आई, तो वह शव जीवित पाया गया।

क्या आप ने कभी सुना है कि कोई व्यक्ति जिसे डॉक्टर मर हुआ घोषित कर चुके हो वो अचानक से जी उठे अगर नहीं तो हम आपको आज एक ऐसी ही घटना के बारे बताने जा रहे हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ये कोई काल्पनिक कहानी नहीं है बल्कि ऐसा सच मे हुआ है। एक सड़क दुर्घटना का शिकार हुए एक युवक जिसे डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था,अस्पताल के मुर्दाघर के फ्रीजर में एक रात रहने के बावजूद जिंदा पाया गया है। 

क्या है पूरा मामला

 

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में हुए एक्सीडेंट में श्रीकेश कुमार गंभीर रूप से घायल हो गए। गंभीर हालत में उन्हें एक निजी क्लिनिक ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया शव को शुक्रवार को पोस्टमार्टम के लिए सरकारी अस्पताल ले जाया गया। पुलिस ने मृतक के परिवार वालों के इंतजार में शव को मुर्दाघर में रखा दिया। परिवार के लोगों के पहुंचने के बाद जब जब पुलिस की एक टीम शव परीक्षण के लिए कागजी कार्रवाई शुरू करने के लिए आई, तो वह शव जीवित पाया गया।

क्या कह रहे हैं डॉक्टर

इस हैरतअंगेज मामले में चिकित्सा अधीक्षक राजेंद्र कुमार ने कहा, "आपातकालीन चिकित्सा अधिकारी ने उसकी जांच की। उसे जीवन के कोई लक्षण नहीं मिले और इसलिए उसे मृत घोषित कर दिया।" आपको बता दें कि पुलिस पता कर रही है कि किन डॉक्टरों की लापरवाही से जीवित व्यक्ति को मृत घोषित किया गया है। आपको बता दें अभी भी मृत घोषित किया गया व्यक्ति कोमा में है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।