अफजाल की 15 करोड़ की संपत्ति कुर्क, अब अब्बास की तलाश में लखनऊ में छापेमारी, कसता जा रहा अंसारी परिवार पर योगी सरकार का शिकंजा

Abbas
Creative Common
अभिनय आकाश । Jul 25, 2022 1:20PM
मुख्तार अंसारी का बेटा अब्बास फरार बताया जा रहा है। अब्बास अंसारी के खिलाफ अवैध तरीके से शस्त्र लाइसेंस रख दिल्ली ट्रांसफर करने का मामला दर्ज है। जिसके बाद मऊ से सपा विधायक अंसारी की तलाश में पुलिस ने दबिश डालना शुरू कर दिया है।

पांच बार का विधायक और हिस्ट्रीशीटर मुख्तार अंसारी उत्तर प्रदेश की बांदा जेल में बंद जेल में बंद है। लेकिन अब बाहुबली के परिवार पर भी योगी सरकार का शिकंजा कसता जा रहा है। पहले तो उसके सांसद भाई अफजाल अंसारी की करोड़ों की संपत्ति को कुर्क किया गया और अब बाहुबली मुख्तार के विधायक बेटे अब्बास अंसारी को यूपी पुलिस तलाश रही है। उसकी तलाश में कई जगह छापेमारी भी की गई है। अब्बास फरार बताया जा रहा है। अब्बास अंसारी के खिलाफ अवैध तरीके से शस्त्र लाइसेंस रख दिल्ली ट्रांसफर करने का मामला दर्ज है। जिसके बाद मऊ से सपा विधायक अंसारी की तलाश में पुलिस ने दबिश डालना शुरू कर दिया है। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर 2 बसों की टक्कर, 8 की मौत कई गंभीर रूप से घायल

इससे पहले बीते दिनों गाजीपुर पुलिस ने गैंगस्टर से नेता बने मुख्तार अंसारी के बड़े भाई अफजल अंसारी की 15 करोड़ रुपये की चार संपत्ति कुर्क की है। मुख्तार अंसारी के भाईगाजीपुर से बसपा सांसद हैं। उनकी संपत्तियों को आज भारी पुलिस बल और राजस्व अधिकारियों की मौजूदगी में कुर्क किया गया। माचा गांव में गाजीपुर के एसपी रोहन पी बोत्रे और सब डिविजनल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) हर्षिता तिवारी के नेतृत्व में कार्रवाई की गई। गाजीपुर पुलिस ने मुख्तार अंसारी के बड़े भाई और गाजीपुर से बसपा सांसद अफजल अंसारी की संपत्ति कुर्क की।

इसे भी पढ़ें: मायावती का योगी सरकार पर निशाना, बोलीं- तबादला-तैनाती के खेल में बड़ी मछलियों को बचाया जा रहा

कुर्की भारी पुलिस बल और राजस्व अधिकारियों की मौजूदगी में की गई। पुलिस अधीक्षक द्वारा रिपोर्ट सौंपे जाने के बाद गाजीपुर डीएम ने यह कार्रवाई की। एसपी रोहन पी बोत्रे ने कहा कि उत्तर प्रदेश गैंगस्टर्स और असामाजिक अधिनियम के प्रावधानों के तहत एक कुर्की आदेश जारी किया गया था और बाद में कार्रवाई की गई थी। उन्होंने कहा, 'हमने चार जमीन कुर्क की हैं: मौजा नरसिंहपुर की तराई परगना और खरडीहा परगना। प्रशासन ने स्पष्ट रूप से सांसद के लिए उनकी संपत्तियों को कुर्क करने की बात कही है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़