पश्चिम बंगाल में AIMIM के एक बड़े नेता और कई पदाधिकारी तृणमूल कांग्रेस में शामिल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 23, 2020   19:26
पश्चिम बंगाल में AIMIM के एक बड़े नेता और कई पदाधिकारी तृणमूल कांग्रेस में शामिल

अनवर पाशा ने कहा कि फिलहाल पश्चिम बगाल पर नजर गड़ाये हुए लोगों , चाहे उन्होंने भगवा पहन रखा हो या हरा, को जान लेना चाहिए कि ऐसे बांटने वालों की इस राज्य में कोई जगह नहीं है।

कोलकाता। ऑल इंडिया मजलिस-ए- इत्तेहादुल- मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) की पश्चिम बंगाल इकाई के नेता अनवर पाशा सोमवार को यह दावा करते हुए अपने साथियों के साथ सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गये कि उनकी मूल पार्टी वोटो का ध्रुवीकरण कर बस भाजपा को मदद पहुंचाने का काम कर रही है। पाशा ने आरोप लगाया कि लोगों का एक वर्ग धर्म का इस्तेमाल करके देश को विध्वंस की ओर ले जा रहा है। उन्होंने कहा कि फिलहाल पश्चिम बगाल पर नजर गड़ाये हुए लोगों, चाहे उन्होंने भगवा पहन रखा हो या हरा, को जान लेना चाहिए कि ऐसे बांटने वालों की इस राज्य में कोई जगह नहीं है। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस नेता संग मुलाकात के बाद बोले राज्यपाल धनखड़, बंगाल में विपक्ष चुनाव की स्वतंत्रता को लेकर आशांकित 

उन्होंने कहा, ‘‘ एआईएमआईएम ने बिहार में वोटों के ध्रुवीकरण में भूमिका निभायी और वहां भाजपा को सरकार बनाने में मदद पहुंचायी लेकिन ऐसा बंगाल में नहीं होगा।’’ पाशा ने कहा कि पश्चिम बंगाल की 30 फीसद जनसंख्या मुसलमान है और बिहार में जो भी राजनीतिक घटनाक्रम हुआ, उसे इस राज्य में नहीं दोहराया जा सकता है। मंत्री द्वय ब्रत्य बसु और मोली घाटक ने पाशा का तृणमूल कांग्रेस में स्वागत किया। एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने रविवार को कहा था कि उनकी पार्टी पश्चिम बंगाल में चुनाव लड़ने के विषय पर वहां के अपने नेताओं के साथ चर्चा करेगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।