बाड़मेर में वायुसेना का लड़ाकू विमान दुर्घटनाग्रस्‍त, दो पायलटों की मौत

Plane crash
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
भारतीय वायुसेना का एक लड़ाकू विमान राजस्थान के बाड़मेर जिले के बायतू इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जिसमें दो पायलटों की मौत हो गयी। दोनों पायलटों को जानलेवा चोटें लगीं।

बाड़मेर/नयी दिल्ली, 29 जुलाई। भारतीय वायुसेना का एक लड़ाकू विमान बृहस्‍पतिवार रात राजस्थान के बाड़मेर जिले के बायतू इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जिसमें दो पायलटों की मौत हो गयी। भारतीय वायुसेना के अनुसार यह विमान प्रशिक्षण उड़ान पर था। बृहस्‍पतिवार रात 9.10 बजे यह हादसा बायतू के भीमड़ा गांव के पास हुआ। भारतीय वायुसेना ने ट्वीट किया,‘‘ भारतीय वायुसेना का दो सीटों वाला मिग-21 ट्रेनर विमान आज शाम राजस्थान के उतरलाई हवाई अड्डे से प्रशिक्षण उड़ान के लिए रवाना हुआ।

रात करीब 9:10 बजे बाड़मेर के पास विमान दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया। दोनों पायलटों को जानलेवा चोटें लगीं।’’ ट्वीट में कहा गया, ‘‘ भारतीय वायुसेना को पायलटों की जान जाने का गहरा दुख है और वह शोक की इस घड़ी में शोक संतप्त परिवारों के साथ मजबूती से खड़ी है। दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दे दिए गए हैं।’’ इससे पहले बाड़मेर के कलेक्टर लोक बंधु ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘यह वायुसेना का विमान था जो बायतू के भीमड़ा गांव के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया।

विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की सूचना मिलने पर आला अधिकारी घटनास्‍थल पर पहुंचे। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दुर्घटना के संबंध में वायु सेना प्रमुख वी आर चौधरी से बात की है। सिंह ने ट्वीट किया, ‘‘ राजस्थान के बाड़मेर में वायु सेना के मिग-21 ट्रेनर विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने से दो वायु योद्धाओं के प्राण गंवाने से बेहद दुखी हूं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ देश के प्रति उनकी सेवा को कभी भुलाया नहीं जाएगा। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदना उनके परिजनों के साथ हैं।’’ राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत के घटना पर दुख जताते हुए शोक संतप्‍त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़