21 साल की उम्र में देश की सबसे युवा मेयर होंगी आर्या राजेंद्रन, पार्टी ने दी बड़ी जिम्मेदारी

21 साल की उम्र में देश की सबसे युवा मेयर होंगी आर्या राजेंद्रन, पार्टी ने दी बड़ी जिम्मेदारी

आर्या राजेंद्रन केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम की अगली में मेयर बनेंगी। इतना ही नहीं, वह देश के इतिहास में अब तक की सबसे युवा मेयर हैं। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने युवा राजेंद्रन पर भरोसा जताया है और उन्हें बड़ी जिम्मेदारी देने का फैसला किया है।

21 साल की उम्र में ज्यादातर युवा यही सोचते हैं कि उन्हें आगे क्या करना है। अपने भविष्य को किस तरह से सुनहरा बनाना है। लेकिन 21 साल की ही आर्या राजेंद्रन ने इतिहास रच दिया है। आर्या राजेंद्रन केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम की अगली में मेयर बनेंगी। इतना ही नहीं, वह देश के इतिहास में अब तक की सबसे युवा मेयर हैं। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने युवा राजेंद्रन पर भरोसा जताया है और उन्हें बड़ी जिम्मेदारी देने का फैसला किया है। आर्या राजेंद्र को मेयर नियुक्त करने का फैसला सीपीएम जिला सचिवालय ने लिया है।

इसे भी पढ़ें: त्रिपुरा, केरल, बंगाल में वामपंथी दलों ने किसानों पर अत्याचार किया, कृषि कानूनों पर कर रहे पाखंड: भाजपा

हाल ही में हुए यहां चुनाव में एलडीएफ में 100 में से 51 वार्ड जीते थे। मुदवनमुकल वार्ड से आर्या राजेंद्रन पार्षद बनी हैं। आर्या राजेंद्रन ऑल विमेन ऑल सेंट्स कॉलेज में पढ़ाई करती हैं। उनका परिवार शुरू से ही सीपीएम का समर्थक रहा है। आर्य राजेंद्रन के पिता एम राजेंद्रन ने कहा कि आर्या की राजनीति में रुचि शुरू से ही रही है। जब आर्या 9 साल की थीं और पांचवी कक्षा में पढ़ाई कर रही थीं तभी वह सीपीएम से जुड़ी थीं। आर्या जिला अध्यक्ष बनने के बाद 2 साल तक बालासंगम की स्टेट प्रेसिडेंट भी रहीं। बालासंगम में अच्छी भूमिका के बाद उन्हें स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया की जिम्मेदारी भी दी गई। आपको बता दें कि बालासंगम बच्चों का संगठन है।

इसे भी पढ़ें: केरल सरकार ने अगले 100 दिनों के लिए 10,000 करोड़ की विकास परियोजनाओं की घोषणा की

सबसे बड़ी बात है कि राजनीति में सक्रिय होने के बावजूद अपने शैक्षणिक कैरियर को भी आर्या लगातार बढ़ाती रही हैं। अभी भी वह पढ़ाई करती हैं। आर्या को इस बात की आशंका है कि मेयर बनने के बाद शायद वह रेगुलर क्लास अटेंड नहीं कर पाएंगे लेकिन उन्हें इस बात की भी उम्मीद है कि अन्य विद्यार्थी और शिक्षक उनका साथ देंगे। आर्या राजेंद्रन केरल की स्वास्थ्य मंत्री के सैलजा को अपना आदर्श मानती है। आर्य ने कहा कि कोरोना महामारी से निपटने में शैलजा ने अहम भूमिका निभाई हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।