• ज्योतिषी की भविष्यवाणी, सिद्धू के अध्यक्ष बनने से पंजाब कांग्रेस में बढ़ेगी और चिंगारी

राजनीतिक दृष्टि से देखा जाए तो कई उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकते हैं। पार्टियों में अंदरूनी खींचतान चरम पर रहेगी। एक-दूसरे को नीचा दिखाने के लिए कई तरह के षडय़ंत्र देखने को मिलेंगे।

धर्मशाला। पंजाब कांग्रेस में पिछले कई दिनों से चल रहीं अंदरूनी खींचतान अब खुल कर सामने आने लग गई है। कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व ने इस खींचतान को भांपकर पंजाब प्रदेश कांग्रेस की कमान वाकपटुता में निपुण नवजोत सिंह सिद्धू के हाथों में सौंपी है। परंतु क्या नवजोत सिंह सिद्धू प्रदेश में कांग्रेस की नैय्या को चुनावी वैतरणी में पार करवा पाएंगे, अथवा नहीं यह तो आने वाले समय में ही साफ हो पाएगा। पंजाब में पिछले कई दिनों से चल रही उठापठक पर जानेमाने अंक ज्योतिषाचार्य एवं वरिष्ठ ज्योतिष सदन के अध्यक्ष पंडित शशिपाल डोगरा ने भविष्यवाणी की है। उनके मुताबिक आने वाले दिनों में पंजाब की राजनीति में सब कुछ अच्छा रहने वाला नहीं है। राजनीतिक दृष्टि से देखा जाए तो कई उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकते हैं। पार्टियों में अंदरूनी खींचतान चरम पर रहेगी। एक-दूसरे को नीचा दिखाने के लिए कई तरह के षडय़ंत्र देखने को मिलेंगे। 

इसे भी पढ़ें: भाजपा और AAP ने कांग्रेस को घेरा, पूछा- क्या सि्द्धू ने केवल कुर्सी के लिए अमरिंदर पर साधा निशाना

अंक ज्योतिष का गणित बताता है कि पंजाब कांग्रेस में और चिंगारी बढ़ सकती है। यही नहीं, नव नियुक्त प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को समय से पहले अपना पद भी छोडऩा पड़ सकता है। यही नहीं, कांग्रेस में वहां कुछ लोग पार्टी भी छोड़ सकते हैं। अंकों की यह गणना किसी किसी और ने नहीं की, बल्कि जानेमाने अंक ज्योतिषाचार्य एवं वशिष्ठ ज्योतिष सदन के अध्यक्ष पंडि़त शशिपाल डोगरा ने की है। पंडि़त डोगरा की गणना के मुताबिक पंजाब कांग्रेस में 18 जुलाई 2021 को नवजोत सिंह सिद्धू को कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया। 1+8=9 अंक, 9 मंगल का अंक है। मंगल एक अग्नि तत्व ग्रह है। पंजाब कांग्रेस में चिंगारी लग चुकी है। पंजाब का अंक 8 है। 8 शनि का अंक है। 8 व 9 अंक आपस में शत्रु है। इस कारण पंजाब कांग्रेस में गुप्त शत्रु होंगे। 8+9=17= 1+7=8 शनि का अंक है। शनि झूठ नहीं मानता। जो नेता अपना हित चाहता हो, उसे शनि खत्म कर देता है। 

इसे भी पढ़ें: पहला राउंड सिद्धू भले जीत गये हों लेकिन उन्हें ध्यान रखना चाहिए- फौजी कभी भी पटखनी दे सकता है

पंडि़त शशिपाल डोगरा के मुताबिक नवजोत सिंह सिद्धू की जन्म तिथि 20 अक्टूबर 1963 है। 2+0=2 अंक, 2 चंद्र का अंक है। चंद्रमा मन का कारक है। 2+0+1+0+1+9+6+3=22=2+2=4 अंक राहु का है। राहु बगावत करवाता है। ऐसे व्यक्ति का वाणी पर संयम नहीं रहता है। समस्या ज्यादा विकट हो जाएगी। सिद्धू 58वें वर्ष में चल रहे हैं। 5+8=13=1+3=4 राहु का अंक है। राहु षड्यंत्र का कारक है।नवजोत सिंह सिद्धू का 20 अक्टूबर 2021 को 59वें वर्ष में प्रवेश पर अंक ज्योतिष के हिसाब से 5+9=1+4=5 बुद्ध का अंक पर आने से किसी बड़े षड्यंत्र का शिकार बना देगा। 1 सूर्य का अंक है। 4 राहु का अंक सूर्य पर राहु की दृष्टि से ग्रहण योग बना रहा है। 

इसे भी पढ़ें: रीट्वीट के जरिए माकन का अमरिंदर-गहलोत पर हमला, 'CM बनते ही समझ लेते हैं उनकी वजह से पार्टी जीती'

पंडि़त डोगरा कहते हैं कि कैप्टन अमरिंदर सिंह की जन्म तिथि 11 मार्च 1942 है। 1+1=2 चंद्र का अंक है। 1 सूर्य का अंक है। 1 अंक का दो बार आने से सूर्य की शक्ति को बढ़ा देता है। ऐसा व्यक्ति किसी के अधीन काम नहीं कर सकता। ऐसे में पंजाब कांग्रेस में संकट आ सकता है। उनका कहना है कि कांग्रेस ने पंजाब में नवजोत सिंह सिद्धू के साथ चार कार्यकारी अध्यक्ष बनाए हैं। 4 राहु का अंक है। 1 अध्यक्ष सूर्य का व 4 कार्यकारी अध्यक्ष राहु का अंक है। जोकि सूर्य पर ग्रहण योग बनाता है। अध्यक्ष को ज्यादा समय तक अपने पद पर टिक पाना मुश्किल है। समय से पहले ही पद छोडऩा पड़ सकता है व कांग्रेस बड़ा नुकसान दे सकता है। कुछ नेता पार्टी में बगावत कर सकते हैं और पार्टी छोड़ सकते हैं। इससे पंजाब कांग्रेस को नुकसान हो सकता है। कांग्रेस में विरोध के स्वर उठ सकते हैं। बाकि सर्वज्ञ तो ईश्वर है।