भोपाल रेल मंडल ने दो साल में 112 लोगों की दी अनुकंपा नियुक्ति

भोपाल रेल मंडल ने दो साल में 112 लोगों की दी अनुकंपा नियुक्ति

मण्डल रेल प्रबंधक उदय बोरवणकर द्वारा गत वर्ष सख्त निर्देश दिया गया कि अनुकम्पा नियुक्ति से सम्बंधित मामलों का अतिशीघ्र निपटारा किया जाए। जिसके अनुपालन में मण्डल कार्मिक विभाग द्वारा अनुकम्पा नियुक्ति सम्बन्धी मामलों के निपटान में उच्च प्राथमिकता दी जा रही है।

भोपाल। पश्चिम मध्य रेल भोपाल मण्डल द्वारा मृतक एवं किसी विशेष कारण से चिकित्सकीय रूप से अयोग्य रेल कर्मियों के आश्रितों को अतिशीघ्र अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान करने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। दो साल में अब तक कुल 121 प्रकरणों में अब तक 112 का निराकरण कर अनुकम्पा नियुक्ति दी जा चुकी है। मंडल के जनसम्पर्क अधिकारी आई.ए.सिद्दीकी ने बताया कि अनुकम्पा नियुक्ति के मामलों के निपटान में विलंब होने से आश्रित परिवार को परेशानी का सामना करना पड़ता था। लेकिन मण्डल रेल प्रबंधक उदय बोरवणकर द्वारा गत वर्ष सख्त निर्देश दिया गया कि अनुकम्पा नियुक्ति से सम्बंधित मामलों का अतिशीघ्र निपटारा किया जाए। जिसके अनुपालन में मण्डल कार्मिक विभाग द्वारा अनुकम्पा नियुक्ति सम्बन्धी मामलों के निपटान में उच्च प्राथमिकता दी जा रही है।

इसे भी पढ़ें: फर्जी दस्तावेजों से लाखों की धोखाधड़ी करने वाले पिता-पुत्र गिरफ्तार

उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण के कठिन समय में भी कार्मिक विभाग द्वारा अनुकम्पा नियुक्ति से सम्बंधित सारे काम जारी रखे गये। काम पर रहते हुये जिन कर्मचारियों की दु:खद मृत्यु हो गई थी। उनके आश्रितों को तुरंत अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान करने की कार्यवाही की गई। मृतक एवं चिकित्सकीय रुप से अयोग्य रेल कर्मियों के आश्रितों को त्वरित सहायता देने के लिए अनुकम्पा नियुक्ति सम्बन्धी मामलों की मॉनीटरिंग मण्डल रेल प्रबन्धक स्तर पर की जा रही है। इसके परिणामस्वरूप भोपाल मण्डल पर 01 जनवरी 2019 से 01 नवम्बर 2020 तक अनुकम्पा नियुक्ति के कुल 121 प्रकरणों में से 31 अक्टूबर 2020 तक 103 कर्मचारियों के आश्रितों को अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान कर दी गई है एवं 09 कर्मचारियों के आश्रितों को बुलावा पत्र जारी कर दिया गया है।

इसे भी पढ़ें: रतलाम रेलवे स्टेशन से आरपीएफ ने 2.29 करोड़ नगद और एक करोड से अधिक का सोना-चाँदी किया बरामद

इस प्रकार कुल 112 आश्रितों के प्रकरणों में कार्यवाही कर ली गई है। जबकि शेष 09 आश्रितों में से 04 आवेदकों को आगामी 10 दिसंबर की स्क्रीनिंग में बुलाया गया है एवं शेष मामले प्रक्रियाधीन है। मण्डल रेल प्रबंधक ने कहा कि हम अपने रेल कर्मियों के कल्याण और हर सम्भव मदद के लिए तत्पर रहते हैं। किसी अप्रिय घटना होने पर उनके आश्रितों को कोई परेशानी न हो, इस पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। अनुकंपा नियुक्ति में पूरी पारदर्शिता और तत्परता के साथ काम करने के सख़्त निर्देश हैं और इस क्षेत्र में भोपाल मंडल की टीम का कार्य बहुत उत्कृष्ट है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept