राजधानी भोपाल होगा ऑक्सीजन में आत्मनिर्भर, लगाया जाएगा 1 हजार लीटर ऑक्सीजन जनरेटन

राजधानी भोपाल होगा ऑक्सीजन में आत्मनिर्भर, लगाया जाएगा 1 हजार लीटर ऑक्सीजन जनरेटन

जेपी अस्पताल में करीब एक प्लांट का काम पूरा हो गया है। वहीं 1 हजार लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन की क्षमता के दूसरे प्लांट को भी मंजूरी मिल गई है। फिलहाल प्लांट लगाने के लिए जगह का चयन किया जा रहा है।

भोपाल। राजधानी भोपाल का जेपी जिला अस्पताल ऑक्सीजन में आत्मनिर्भर बनने जा रहा है। मध्य प्रदेश का यह पहला जिला अस्पताल है, जहां दो ऑक्सीजन जनरेटर के 1 हजार लीटर प्रति मिनट क्षमता के  दो प्लांट की शुरुआत होने जा रही है। बता दें कि जेपी अस्पताल में करीब एक प्लांट का काम पूरा हो गया है। वहीं 1 हजार लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन की क्षमता के दूसरे प्लांट को भी मंजूरी मिल गई है। फिलहाल प्लांट लगाने के लिए जगह का चयन किया जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें:मध्य प्रदेश में रुका वैक्सीनेशन अभियान, कमलनाथ बोले- यह सब शिवराज सरकार का स्टंट है 

वहीं जिला अस्पताल के डॉ राकेश श्रीवास्तव ने कहा कि प्लांट शुरू होने के बाद ऑक्सीजन की कमी नहीं होगी। एक प्लांट का काम करीब पूरा हो गया है। दूसरे प्लांट का काम भी जल्द शुरु होगा। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।