मध्य प्रदेश में रुका वैक्सीनेशन अभियान, कमलनाथ बोले- यह सब शिवराज सरकार का स्टंट है

मध्य प्रदेश में रुका वैक्सीनेशन अभियान, कमलनाथ बोले- यह सब शिवराज सरकार का स्टंट है
प्रतिरूप फोटो

आज प्रदेश में वैक्सीनेशन नहीं होगा। प्रदेश में तेजी से हुए वैक्सीनेशन के चलते 2 दिनों पहले ही वैक्सीन खत्म हो गई है। जानकारी के अनुसार बुधवार शाम तक प्रदेश को करीब 10 लाख वैक्सीन के डोज मिलने की उम्मीद है।

भोपाल। मध्य प्रदेश में वैक्सीनेशन महाअभियान पर ब्रेक लग गया है। आज प्रदेश में वैक्सीनेशन नहीं होगा। प्रदेश में तेजी से हुए वैक्सीनेशन के चलते 2 दिन पहले ही वैक्सीन खत्म हो गई। जानकारी के अनुसार बुधवार शाम तक प्रदेश को करीब 10 लाख वैक्सीन के डोज मिलने की उम्मीद है। लेकिन इसके बाद गुरुवार से फिर 2 दिवसीय‌ वैक्सीनेशन अभियान चलाया जाएगा।

बता दें कि  प्रदेश में अब तक 2 करोड़ से अधिक वैक्सीन लगाए जा चुके है। रिपोर्ट्स के मुताबिक 23 लाख 92 हजार 64  लोगों को वैक्सीन का दूसरा डोज लग चुका है। इसके साथ 1 करोड़ 78 लाख 91 हजार 659 पहली डोज लगाई जा चुकी है।

इसे भी पढ़ें:मध्यप्रदेश में वैक्सीन की हुई कमी, सिर्फ 26 जिलों में आज किया जाएगा वैक्सीनेशन 

वहीं भोपाल जिले में 1 से 3 जुलाई तक वैक्सीनेशन महाअभियान चलाया जाएगा। इस अभियान के तहत 1 जुलाई को 50 हजार से अधिक लोगों को वैक्सीनेशन करवाने का लक्ष्य है। इस बार प्रत्येक वार्ड को 250 और फंदा बैरसिया को 15 हजार वैक्सीन लगाने का टारगेट दिया गया है। इसका निर्णय मंगलवार को भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया।

उधर पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने ट्वीट कर कहा, "मध्य प्रदेश सरकार ने टीकाकरण अभियान को पूरी तरह से पब्लिसिटी स्टंट बना लिया है। पिछले 5 दिन से पूरे प्रदेश में लोग वैक्सीन लगवाने को परेशान हैं। एक दिन अभियान को बड़ा दिखाने के लिए, कई-कई दिन तक टीकाकरण रोकना समझ से परे है। जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़ मत करिए।"





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।