बिहार में कोरोना के 2 नए मामले सामने आए, संक्रमित व्यक्तियों की संख्या बढ़कर 225 हुई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2020   13:00
बिहार में कोरोना के 2 नए मामले सामने आए, संक्रमित व्यक्तियों की संख्या बढ़कर 225 हुई

कोरोना वायरस से संक्रमित मुंगेर जिला निवासी एक मरीज और वैशाली जिला निवासी एक मरीज की मौत हो गयी थी। बिहार के कुल 38 जिलों में से 20 जिलों में कोविड-19 के मामले सामने आए हैं।

पटना। बिहार में शनिवार को कोरोना वायरस संक्रमण के दो नये मामले सामने आने के बाद राज्य में कोविड-19 से संक्रमित लोगों के मामले बढ़ कर 225 हो गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने शनिवार को बताया कि बक्सर जिला के नया भोजपुर में दो पुरुषों (35 एवं 67 वर्ष) में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है। इन लोगों के संपर्क में आए लोगों का पता लगाया जा रहा है। गौरतलब है कि कोरोना वायरस से संक्रमित मुंगेर जिला निवासी एक मरीज और वैशाली जिला निवासी एक मरीज की मौत हो गयी थी। बिहार के कुल 38 जिलों में से 20 जिलों में कोविड-19 के मामले सामने आए हैं। बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे अधिक मामले मुंगेर में सामने आए है। 

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी ने मोदी सरकार से किया आग्रह, कहा- गुजरात में फंसे मछुआरों की करें मदद 

मुंगेर में 62, नालंदा में 34, सिवान में 30, पटना में 26, बक्सर में 22, बेगुसराय में नौ, कैमूर में आठ, रोहतास में सात, गया एवं भागलपुर में पांच-पांच, गोपालगंज एवं नवादा में तीन-तीन, सारण, बांका एवं औरंगाबाद में दो-दो तथा लखीसराय, वैशाली, भोजपुर, पूर्वी चंपारण एवं मधेपुरा में एक-एक मामला सामने आया है। ओमान से लौटे सिवान निवासी एक मरीज के संपर्क में आए 23 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। वहीं कतर से लौटे मुंगेर निवासी एक मरीज के संपर्क में आए 11 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है। इस व्यक्ति की 21 मार्च को मौत हो गयी थी। बिहार में अब तक 16,050 नमूनों की जांच की जा चुकी है और कोरोना वायरस से संक्रमित 45 मरीज स्वस्थ हो गए हैं। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।