AAP के खिलाफ भाजपा की किलाबंदी, मोदी और नीतीश मिलकर केजरीवाल को देंगे चुनौती

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 21, 2020   18:49
AAP के खिलाफ भाजपा की किलाबंदी, मोदी और नीतीश मिलकर केजरीवाल को देंगे चुनौती

वर्मा ने मंगलवार को नीतीश कुमार को पत्र लिखकर कहा कि जब अकाली दल ने सीएए और एनआरसी के मुद्दे पर भाजपा के साथ मतभेद के कारण, दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा से गठबंधन नहीं करने का ऐलान कर दिया है तो फिर जदयू को भाजपा से गठबंधन करने की क्या मजबूरी है।

नयी दिल्ली। जदयू ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा के साथ गठबंधन को लेकर पार्टी में जारी अंतर्विरोध को दरकिनार कर मंगलवार को गठबंधन की घोषणा करते हुये कहा कि भाजपा, जदयू और लोजपा दिल्ली का चुनाव मिलकर लड़ेंगे। जदयू के महासचिव और बिहार सरकार में मंत्री संजय झा ने यहां स्थित भाजपा कार्यालय में दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और लोजपा के प्रवक्ता ए के वाजपेयी के साथ संयुक्त संवाददाता में गठबंधन की आधिकारिक घोषणा करते हुये बताया कि दिल्ली विधानसभा की 67 सीटों पर भाजपा, दो पर जदयू और एक सीट पर लोजपा चुनाव लड़ेगी।

उल्लेखनीय है कि जदयू के वरिष्ठ नेता प्रशांत किशोर और पवन वर्मा ने भाजपा से गठबंधन करने को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री और पार्टी अध्यक्ष नीतीश कुमार से अपनी असहमति जतायी है। वर्मा ने मंगलवार को नीतीश कुमार को पत्र लिखकर कहा कि जब अकाली दल ने सीएए और एनआरसी के मुद्दे पर भाजपा के साथ मतभेद के कारण, दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा से गठबंधन नहीं करने का ऐलान कर दिया है तो फिर जदयू को भाजपा से गठबंधन करने की क्या मजबूरी है। तिवारी ने कहा कि भाजपा ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में पहली बार सहयोगी दलों के साथ गठबंधन करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि जदयू बुराड़ी और संगम विहार सीट पर जबकि लोजपा सीमापुरी सीट पर अपने उम्मीदवार उतारेगी, शेष 67 सीटों पर दोनों दल भाजपा के उम्मीदवारों का समर्थन करेंगे। 

इसे भी पढ़ें: AAP उम्मीदवारों की सालाना आय बढ़ी भी और घटी भी, लेकिन नजर नई दिल्ली सीट पर

झा ने कहा कि संगम विहार सीट पर पूर्व विधायक एस सी एल गुप्ता को और बुराड़ी सीट से शैलेन्द्र कुमार को पार्टी का उम्मीदवार घोषित गया है। वहीं, केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान की लोजपा ने सीमापुरी (सु) सीट से संतलाल चावरिया को उम्मीदवार घोषित किया है। गठबंधन के मुद्दे पर जदयू में उभरे मतभेदों को लेकर झा ने कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की।उन्होंने सिर्फ इतना ही कहा, ‘‘दिल्ली में हमने पहली बार किसी दल के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ने का फैसला किया है। इससे भाजपा के साथ गठबंधन और अधिक मजबूत होगा तथा भविष्य में होने वाले चुनावों में इसका असर भी दिखेगा।’’ झा ने कहा दिल्ली के चुनाव में जरूरत के मुताबिक पार्टी अध्यक्ष नीतीश कुमार प्रचार अभियान में शिरकत करेंगे। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।