गुजरात दंगों के पाप को छिपाने के लिए BJP ने दिवंगत अहमद पटेल पर लगाए गंदे आरोप: नाना पटोले

Nana Patole
ANI
पटोले ने कहा कि एसआईटी की जिस टीम ने अहमद पटेल पर सिर्फ कयासों के आधार पर आरोप लगाए हैं, वह एजेंसी सरकार की कठपुतली है और सरकार के इशारे पर काम कर रही है। एक पूर्व एसआईटी प्रमुख को मुख्यमंत्री रहते हुए नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट देने के लिए विशेष तौर पर लगा दिया गया था ।

भाजपा नेताओं ने कांग्रेस के दिवंगत नेता अहमद पटेल पर जो आरोप लगाए हैं, उनमें कोई सच्चाई नहीं है। यह 2002 के गुजरात दंगों से खराब हुई पीएम नरेंद्र मोदी की छवि को साफ करने का एक हताशा भरा प्रयास है। बीजेपी पर यह हमला प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने किया है। उन्होंने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने भी गुजरात दंगों के दौरान राजधर्म का पालन नहीं करने के लिए मोदी को कड़े शब्दों में फटकार लगाई थी। पटोले ने स्पष्ट किया है कि भाजपा केवल गुजरात दंगों के पाप को छिपाने के लिए कांग्रेस पर गंदे आरोप लगा रही है।

इसे भी पढ़ें: रेवड़ी कल्चर देश के विकास के लिए घातक, जालौन में PM मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें

इस संबंध में आगे बोलते हुए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि यह देखा गया है कि नरेंद्र मोदी सरकार गुजरात दंगों को काबू करने में  सक्षम नहीं थी और उस सरकार की ऐसा करने की कोई इच्छा भी नहीं थी। 2002 में गुजरात में हुए नरसंहार ने भारत की इमेज को पूरी दुनिया में दागदार कर दिया था। यह पाप नरेंद्र मोदी का पीछा न छोड़ा है और न आगे छोड़ेगी। बीजेपी जानबूझकर अपनी खराब छवि को सुधारने की कोशिश में विरोधियों को निशाना बना रही है। मोदी-शाह की  जोड़ी ने सरकारी मशीनरी के जरिए विपक्ष को प्रताड़ित करने का बीड़ा उठाया है। यहां तक कि इस साजिश के तहत मरने वालों को भी नहीं बख्शा गया । व्यक्ति की मृत्यु के बाद भी उस पर आरोप लगाने की मंशा भाजपा की खराब राजनीति को दर्शाता है।

इसे भी पढ़ें: मानसून सत्र शुरू होने से पहले लोकसभा अध्यक्ष ने की सर्वदलीय बैठक, कहा- देश हित के महत्वपूर्ण मुद्दों पर करें चर्चा

पटोले ने कहा कि एसआईटी की जिस टीम ने अहमद पटेल पर सिर्फ कयासों के आधार पर आरोप लगाए हैं, वह एजेंसी  सरकार की कठपुतली है और सरकार के इशारे पर काम कर रही है। एक पूर्व एसआईटी प्रमुख को मुख्यमंत्री रहते हुए नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट देने के लिए विशेष तौर पर लगा दिया गया था । अदालती में चल रही  इस मामले की सुनवाई के बीच कुछ झूठे और आधारहीन हिस्सों को मीडिया के माध्यम से प्रसारित करने में मोदी-शाह की जोड़ी का हाथ है। पटोले ने कहा कि अहमद पटेल पर लगाए गए आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है।  उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी को बदनाम करने के मकसद से लगाए गए आरोपों का कांग्रेस पार्टी जोरदार खंडन करती है।

नाना पटोले ने कहा कि गुजरात के लोग  भारतीय जनता पार्टी की सरकार से खासे नाराज हैं। विकास का तथाकथित गुजरात मॉडल ध्वस्त हो गया है। केंद्र में भी बीजेपी सत्ता में है और यह सरकार महंगाई, बेरोजगारी और अर्थव्यवस्था को संभालने में पूरी तरह विफल रही है। चूंकि भाजपा के पास कहने के लिए कुछ नहीं है, इसलिए विधानसभा चुनाव को देखते हुए कांग्रेस को बदनाम करने की यह एक चाल है। लेकिन कांग्रेस पार्टी ऐसी बदनामी से नहीं डरती और जनता भी भाजपा के कारनामों को अच्छी तरह से जानती है।

इसे भी पढ़ें: फर्श पर सोने से सिद्धू को हो रही समस्या, घुटने में दर्द की शिकायत, डॉक्टर ने दी यह सलाह

पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी पर लगे आरोप राजनीति से प्रेरित हैं

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी सभी सम्मान और मर्यादाओं को तोड़ कर राजनीति कर रही है। झूठे आरोप लगाकर विरोधियों को बदनाम करने की उनकी चाल पुरानी है।  अब बीजेपी ने गंदी राजनीति के तहत झूठे आरोप लगाकर पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी को बदनाम करने का भी काम किया है। पटोले ने कहा कि चरमपंथियों के साथ भारतीय जनता पार्टी के संबंध सर्वविदित हैं। कई लोगों की मौत के लिए जिम्मेदार कुख्यात आतंकवादी मसूर अजहर को तत्कालीन भाजपा सरकार खुद कंधार छोड़ कर आई थी। जम्मू-कश्मीर में गिरफ्तार किए गए दो उग्रवादियों में भाजपा का एक पदाधिकारी भी शामिल है। मध्य प्रदेश में कार्रवाई के दौरान एक पदाधिकारी को गिरफ्तार किया गया, जिसके भाजपा के साथ  संबंध की बात सामने आई है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि  भाजपा की कोशिश है कि गुजरात के विधानसभा चुनाव को हिंदू-मुस्लिम का रंग देकर बीजेपी सरकार की नाकामी को छुपाया जाए। लेकिन देश की जनता सब कुछ जानती है।

अन्य न्यूज़