बीजेपी विधायक का आरोप भोपाल को दिल्ली जैसा गैस चेम्बर बनाना चाहता है नगर निगम

बीजेपी विधायक का आरोप भोपाल को दिल्ली जैसा गैस चेम्बर बनाना चाहता है नगर निगम

नगर निगम ने आदमपुर छावनी में कचरा खंती बनाने से पहले बड़े बड़े वादे किए थे कि वह इस कचरे से बिजली और खाद बनाएंगे परंतु इसके विपरीत निगम कचरा खंती बनाकर अपनी जिम्मेदारी भूल कर ग्रामीण नागरिको के जीवन के साथ खिलवाड़ कर रहा है। कचरे में लगायी जाने वाली आग के धुएं से आदमपुर के साथ साथ भोपाल की भी वायु प्रदूषित हो रही है। शर्मा ने कहा की नगर निगम, भोपाल को दिल्ली जैसा गैस चैंबर बनाना चाहता है।

भोपाल। भोपाल से बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने सरकार को चेतावनी दी है कि अगर आदमपुर छावनी के कचरे को जल्द ही निष्पादित नहीं किया गया तो वह धरने पर बैठेंगे। विधायक रामेश्वर शर्मा का कहना है कि कचरा खंती की वजह से भोपाल से सटे गांव आदमपुर, बिलखिरिया, पड़रिया, अर्जुन नगर, हरिनगर सहित अन्य गांवों के परिवार पीड़ित है पानी और वायु प्रदूषित हो चुकी है। यहाँ के नागरिको का जीवन थम गया है। बीजेपी विधायक का आरोप है कि नगर निगम भोपाल को दिल्ली जैसा गैस चेम्बर बनाना चाहती है। जिसको लेकर विधायक शर्मा ने नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन से तत्काल प्रभाव से आदमपुर खंती में कचरा डालने पर प्रतिबंध लगाने एवं यहाँ जमा 6 लाख टन कचरे के निस्तार जल्द से जल्द करने की मांग की है। विधायक शर्मा ने कहा कि यदि जनहित से जुड़ी इस मांग को जल्द ही पूरा नही किया गया तो वह धरना देंगे और साथ ही इसकी शिकायत माननीय NGT को भी करेंगे।

 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली-NCR में फिर बढ़ा प्रदूषण का स्तर, वायु गुणवत्ता गंभीर श्रेणी में रहा

भोपाल नगर निगम क्षेत्र का लगभग 6 लाख टन कचरा आदमपुर छावनी एवं एक दर्जन से अधिक गांवों के लिए परेशानियों का सबब बन चुका है। भोपाल के विभिन्न क्षेत्रों का तकरीबन 950 टन कचरा नगर निगम प्रतिदिन आदमपुर छावनी में डाल रहा है। कचरे से निकलने वाले दूषित पानी अजनाल डेम के साथ साथ यहाँ के ट्यूबवेलो में जा रहा है। जिससे इस क्षेत्र में पीने का पानि भी दूषित हो गया है। साथ ही कचरे में आग के धुएं से यहाँ के नागरिको को सांस लेने तक मे दिक्कत हो रही है। वही कचरा खंती की वजह से हो रहे भारी प्रदूषण के चलते इस क्षेत्र में निवास करने वाले लड़को की शादी नहीं हो रही है। कई परिवारों में बढते प्रदूषण को लेकर पारिवारिक रिश्ते टूटने की कगार पर है।

 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली वालों का घुट रहा दम, प्रदूषण स्तर बढ़ने की वजह से सभी स्कूल शुक्रवार तक बंद

भोपाल की हुजूर विधानसभा से विधायक एवं भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह को पत्र भी लिखा है। जिसमें उन्होनें इस क्षेत्र के निवास करने वाले लोगों की स्थिति से उन्हें अवगत कराया है। विधायक शर्मा ने बताया कि नगर निगम ने आदमपुर छावनी में कचरा खंती बनाने से पहले बड़े बड़े वादे किए थे कि वह इस कचरे से बिजली और खाद बनाएंगे परंतु इसके विपरीत निगम कचरा खंती बनाकर अपनी जिम्मेदारी भूल कर ग्रामीण नागरिको के जीवन के साथ खिलवाड़ कर रहा है। कचरे में लगायी जाने वाली आग के धुएं से आदमपुर के साथ साथ भोपाल की भी वायु प्रदूषित हो रही है। शर्मा ने कहा की नगर निगम, भोपाल को दिल्ली जैसा गैस चैंबर बनाना चाहता है।

 

इसे भी पढ़ें: ट्रंप ने कहा- भारत समेत इन देशों को पर्यावरण की बिल्कुल नहीं है चिंता

नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह को लिखे पत्र में विधायक रामेश्वर शर्मा ने मंत्री से सवाल किया की क्या पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी ने देश में पंचायत राज व्यवस्था इसलिए बनाई थी की शहर का कचरा ग्राम पंचायतों में फेंका जाएगा ? विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि प्रशासन का मापदंड गांव और शहर बड़े छोटे का नहीं अपितु मानवीय आधार होना चाहिए। विधायक शर्मा ने कहा कि पीढ़ियों से आदमपुर छावनी सहित एक दर्जन से अधिक गांव के नागरिक नरकीय जीवन जीने को मजबूर है। क्या उनके मौलिक अधिकार नही है ? क्या वह भारत देश के नागरिक नही है ? फिर क्यों नगर निगम इस तरह का व्यवहार कर रहा है ।

 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।