बसपा के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलनों से राजनीतिक विरोधियों की नींद उड़ी : मायावती

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 27, 2021   14:09
बसपा के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलनों से राजनीतिक विरोधियों की नींद उड़ी : मायावती

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने मंगलवार को दावा किया कि उनकी पार्टी के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलनों की सफलता बसपा में लोगों के विश्वास का संकेत है और इससे उनके राजनीतिक विरोधियों की नींद उड़ गई है।

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने मंगलवार को दावा किया कि उनकी पार्टी के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलनों की सफलता बसपा में लोगों के विश्वास का संकेत है और इससे उनके राजनीतिक विरोधियों की नींद उड़ गई है। बसपा प्रमुख ने मंगलवार को ट्वीट किया मेरे निर्देशन में, पार्टी महासचिव और राज्यसभा सदस्य सतीश चन्द्र मिश्र द्वारा उप्र में चलाई जा रही प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी ब्राह्मण सम्मेलन के नाम से चर्चा में है। संगोष्ठी के प्रति उत्साहपूर्ण भागीदारी इस बात का प्रमाण है कि लोगों का बसपा में विश्वास है।

इसे भी पढ़ें: असम-मिजोरम विवाद के बीच बोले हिमंता बिस्वा सरमा, एक इंच जमीन भी किसी को नहीं दे सकता

इसके लिए सभी का दिल से आभार। मायावती ने अपने सिलसिलेवार ट्वीट में आगे लिखा अयोध्या से 23 जुलाई को श्री रामलला के दर्शन के साथ शुरू हुआ यह कारवां आम्बेडकरनगर और प्रयागराज जिलों से होता हुआ सफलतापूर्वक आगे बढ़ रहा है, जिससे विरोधी पार्टियों की नींद उड़ गई है। इसे रोकने के लिए अब ये पार्टियां किस्म-किस्म के हथकंडे अपना रही हैं, इनसे सावधान रहें।

इसे भी पढ़ें: पोर्नोग्राफी रैकेट मामले में राज कुंद्रा को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने जा रहे विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए बसपा ने राज्य के विभिन्न जिलों में ‘‘प्रबुद्ध सम्मेलन’’ की श्रृंखला के माध्यम से ब्राह्मण वर्ग तक पहुंच बनाने के लिए कार्यक्रम शुरू किया है। इसके बाद समाजवादी पार्टी ने भी अगले माह से इसी तरह के कार्यक्रमों के आयोजनों को मंजूरी दे दी है और इसकी शुरुआत बलिया जिले से होगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।