'बिकता है उसे खरीदो, डरता है उसे डराओ', ED की कार्रवाई पर भड़के तेजस्वी ने कहा- हम नहीं डरते

Tejashwi yadav
ANI
अंकित सिंह । Aug 04, 2022 5:52PM
तेजस्वी यादव ने तो यह भी कह दिया कि जांच एजेंसियां विपक्ष के लोगों को ही निशाना बना रही है। अपने बयान में तेजस्वी यादव ने कहा कि चाहे ईडी हो, सीबीआई हो, आईटी हो, वे दुर्भाग्य से बीजेपी के सेल के रूप में काम करते हैं। ये संवैधानिक जांच एजेंसियां ​​बीजेपी के लिए खिलौने की तरह हैं।

जांच एजेंसियों की कार्रवाई को लेकर विपक्ष भड़का हुआ है। आज संसद के दोनों सदनों में जबरदस्त तरीके से सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच वार-पलटवार का दौर देखने को मिला। विपक्ष का दावा है कि भाजपा सरकार जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर विरोधियों की आवाज को दबाना चाहती है। इन सब के बीच आज बिहार में नेता प्रतिपक्ष और राजद नेता तेजस्वी यादव का भी बयान समय आ गया है। तेजस्वी यादव ने साफ तौर पर जांच एजेंसियों पर निशाना साधा है। इतना ही नहीं, तेजस्वी यादव ने तो यह भी कह दिया कि जांच एजेंसियां विपक्ष के लोगों को ही निशाना बना रही है। अपने बयान में तेजस्वी यादव ने कहा कि चाहे ईडी हो, सीबीआई हो, आईटी हो, वे दुर्भाग्य से बीजेपी के सेल के रूप में काम करते हैं। ये संवैधानिक जांच एजेंसियां ​​बीजेपी के लिए खिलौने की तरह हैं।

इसे भी पढ़ें: नेशनल हेराल्ड केस को लेकर संसद में खूब हुआ हंगामा, दोनों सदनों की कार्यवाही स्थगित

लालू यादव के छोटे बेटे ने आगे कहा कि यह दुखद है कि ऐसी सभी एजेंसियां ​​इतने दबाव में काम कर रही हैं कि निष्पक्ष जांच भी नहीं हो पा रही है। उन्होंने कहा कि हम किसी जांच से नहीं डरते। हम इन एजेंसियों को याद दिलाना चाहते हैं- विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी कहां हैं... कोई उन्हें ढूंढ नहीं रहा है, वे केवल टीएमसी, कांग्रेस, आरजेडी, एसपी के लोगों को ढूंढते हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वे दो तरह से काम करती हैं - 'बिकता है उसे खरीदो, डरता है उसे डराओ।" आपको बता दें कि लालू परिवार के खिलाफ भी जांच एजेंसियां कई मामलों में जांच कर रही है। चारा घोटाला मामले में भी लालू परिवार की ओर से दावा है कि सरकार सिर्फ बदले की भावना से कार्रवाई कर रही है। 

इसे भी पढ़ें: ED की कार्रवाई को लेकर संसद में महासंग्राम, मल्लिकार्जुन खड़गे और पीयूष गोयल के बीच हुई बहस

यही कारण है कि आज भी तेजस्वी यादव ने अपने पेट को सबसे ऊपर रखा हुआ है जिसमें उन्होंने लिखा था अगर लालू जी BJP से हाथ मिला लेते तो वो आज हिंदुस्तान के राजा हरीशचंद्र होते।तथाकथित चारा घोटाला दो मिनट में भाईचारा घोटाला हो जाता अगर लालू जी का DNA बदल जाता। आपको बता दें कि नेशनल हेराल्ड केस में प्रवर्तन निदेशालय लगातार राहुल गांधी और सोनिया गांधी से पूछताछ कर रही है। उधर, शिवसेना के संजय राउत भी प्रवर्तन निदेशालय के रडार पर हैं। पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के नेता पार्थ चटर्जी के खिलाफ भी प्रवर्तन निदेशालय ने एक्शन लिया है। यही कारण है कि अब विपक्ष पूरी तरीके से एकजुट होकर सरकार के खिलाफ हमलावर है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़