नेशनल हेराल्ड केस को लेकर संसद में खूब हुआ हंगामा, दोनों सदनों की कार्यवाही स्थगित

lok sabha
ANI
अंकित सिंह । Aug 04, 2022 5:16PM
सरकार ने बृहस्पतिवार को राज्यसभा में कहा कि देश में भारतीय विरासत संस्थान जैसे और संस्थान स्थापित करने की कोई योजना नहीं है। संस्कृति मंत्री जी. किशन रेड्डी ने एक सवाल के लिखित जवाब में राज्यसभा को यह जानकारी दी।

आज संसद के दोनों सदनों में जबरदस्त हंगामा देखने को मिला। जांच एजेंसियों के कथित दुरुपयोग को लेकर विपक्ष जबरदस्त तरीके से सत्ता पक्ष पर हावी रहा। वहीं, सत्ता पक्ष की ओर से यह दावा किया गया कि अगर भ्रष्टाचार हुआ है तो कहीं ना कहीं उसकी जांच जरूर होगी। विपक्ष सरकार पर आरोप लगा रहा है कि वह राजनीतिक विरोधियों को खत्म करने के उद्देश्य से केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है। वहीं सत्ता पक्ष इसे पूरी तरीके से खारिज कर रहा है। सत्ता पक्ष का दावा है कि कांग्रेस अपने शासनकाल में ऐसा करती होगी, लेकिन भाजपा ने ऐसा कभी नहीं किया है। इस सप्ताह दोनों सदनों में कुछ कामकाज जरूर देखने को मिला था। हालांकि आज दोनों सदनों में इस जबरदस्त तरीके से हो-हल्ला हुआ जिसके बाद से दोनों सदन के कामकाज आज दिन भर के लिए स्थगित कर दिए गए।

लोकसभा की कार्यवाही

‘नेशनल हेराल्ड’ मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की कार्रवाई और महंगाई के मुद्दे पर बृहस्पतिवार को लोकसभा में कांग्रेस समेत कुछ विपक्षी सदस्यों के हंगामे कारण कार्यवाही एक बार के स्थगन के बाद दिनभर के लिए स्थगित कर दी गयी। हंगामे के कारण सदन में प्रश्नकाल बाधित रहा, वहीं शून्यकाल नहीं चल सका। 

इसे भी पढ़ें: 'ED का किया जा रहा दुरुपयोग', शशि थरूर बोले- केंद्र सरकार नेशनल हेराल्ड के खिलाफ कर रही ब्रिटिश साम्राज्य जैसा व्यवहार

सरकार ने बृहस्पतिवार को लोकसभा को बताया कि सेंट्रल विस्टा विकास / पुनर्विकास योजना के तहत 5 परियोजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है और इसमें नये संसद भवन के निर्माण का 70 प्रतिशत कार्य पूरा हो गया है। लोकसभा में राजेन्द्र अग्रवाल के प्रश्न के लिखित उत्तर में शहरी कार्य एवं आवास राज्य मंत्री कौशल किशोर ने यह जानकारी दी। 

बांध सुरक्षा अधिनियम के तहत निर्धारित समय-सीमा के भीतर 20 राज्यों ने बांध सुरक्षा पर राज्य समिति (एससीडीएस) और 16 राज्यों ने राज्य बांध सुरक्षा संगठन (एसडीएसओ) का गठन किया। लोकसभा में हिबी ईडन के प्रश्न के लिखित उत्तर में जल शक्ति राज्य मंत्री बिश्वेश्वर टूडू ने यह जानकारी दी।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने बृहस्पतिवार को सदन में प्रश्नकाल के दौरान केंद्रीय विद्युत, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह से कहा कि उन्हें नियम-प्रक्रिया का पालन करना चाहिए। उन्होंने मंत्री को उस वक्त यह हिदायत दी जब उन्होंने निर्दलीय सांसद नवनीत राणा के पूरक प्रश्न का उत्तर देते हुए कहा कि उनके संसदीय क्षेत्र अमरावती के कई गांवों में सौर ऊर्जा के माध्यम से बिजली पहुंचने से जुड़े महाराष्ट्र सरकार के प्रमाणपत्र की प्रति वह उन्हें दे देंगे। 

इसे भी पढ़ें: रेलवे में 2014-15 से लेकर अब तक ट्रेनों में टक्कर के 25, आग लगने के 33 हादसे हुए: सरकार

सरकार ने बृहस्पतिवार को बताया कि देश में वर्ष 2017 से 2020 के दौरान सड़क दुर्घटनाओं में 4.46 लाख से अधिक लोगों की मौत हुई। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने लोकसभा में एक प्रश्न के उत्तर में यह जानकारी दी। मंत्री की ओर से मुहैया कराए गए आंकड़े के अनुसार, सड़क दुर्घटनाओं में वर्ष 2017 में 1,47,913 लोगों की मौत हुई। 

राज्यसभा की कार्यवाही

कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दलों के सदस्यों के हंगामे के कारण राज्यसभा की बैठक बृहस्पतिवार को एक बार के स्थगन के बाद अपराह्न तीन बजकर पांच मिनट पर दिन भर के लिए स्थगित हो गई।

कुटुम्ब न्यायालय (संशोधन) विधेयक को बृहस्पतिवार को संसद की मंजूरी मिल गई। विपक्षी सदस्यों के हंगामे के बीच राज्यसभा ने आज इस विधेयक को ध्वनिमत से पारित कर दिया। लोकसभा में यह विधेयक पहले ही पारित हो चुका है।

कांग्रेस ने बृहस्पतिवार को राज्यसभा में विपक्षी नेताओं के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की कार्रवाई तथा अपने शीर्ष नेताओं, सोनिया गांधी और राहुल गांधी के आवासों के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों की तैनाती का मामला उठाया।

सरकार ने बृहस्पतिवार को राज्यसभा में कहा कि देश में भारतीय विरासत संस्थान जैसे और संस्थान स्थापित करने की कोई योजना नहीं है। संस्कृति मंत्री जी. किशन रेड्डी ने एक सवाल के लिखित जवाब में राज्यसभा को यह जानकारी दी।

इसे भी पढ़ें: मोदी सरकार पर राहुल गांधी का बड़ा हमला, बोले- न हम डरेंगे और न इन्हें डराने देंगे

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) में भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के 14 ऐसे अधिकारी प्रतिनियुक्ति पर तैनात हैं, जो 12 राज्यों के कैडर से आते हैं। कार्मिक राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने बृहस्पतिवार को राज्यसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में यह जानकारी दी।

सरकार ने बृहस्पतिवार को राज्यसभा में कहा कि वर्तमान में, देश के किसी भी उच्च न्यायालय की पीठ स्थापित करने का कोई पूर्ण प्रस्ताव उसके पास लंबित नहीं है। विधि एवं न्याय राज्य मंत्री एस. पी. सिंह बघेल ने उच्च सदन में पूरक सवालों के जवाब में यह जानकारी दी। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़