पश्चिम बंगाल में शाम 5.31 बजे तक 75.06 फीसदी हुई वोटिंग, सातवें चरण का मतदान समाप्त

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 26, 2021   20:16
पश्चिम बंगाल में शाम 5.31 बजे तक 75.06 फीसदी हुई वोटिंग, सातवें चरण का मतदान समाप्त

इस चरण में कुल 84,77,728 मतदाता हैं। इनमें 43,55,835 पुरूष, 41,21,735 महिलाएं और तृतीय लिंग के 158 मतदाता हैं। कुल 11,860 मतदान केंद्रों में सुबह सात बजे से शाम साढ़े छह बजे तक मतदान होगा। आपको बता दें कि चुनाव आयोग के मुताबिक शाम 5.31 बजे तक 75.06 फीसदी मतदान हुआ है।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में 29 अप्रैल को 35 विधानसभा क्षेत्रों में आठवें और अंतिम चरण के मतदान के लिए प्रचार अभियान सोमवार को शाम साढ़े छह बजे समाप्त हो गया। मालदा में छह, मुर्शिदाबाद में 11, कोलकाता उत्तरी में सात और बीरभूम में 11 निर्वाचन क्षेत्रों में बृहस्पतिवार को होने वाले मतदान में 283 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा। इस चरण में कुल 84,77,728 मतदाता हैं। इनमें 43,55,835 पुरूष, 41,21,735 महिलाएं और तृतीय लिंग के 158 मतदाता हैं। कुल 11,860 मतदान केंद्रों में सुबह सात बजे से शाम साढ़े छह बजे तक मतदान होगा। आपको बता दें कि चुनाव आयोग के मुताबिक शाम 5.31 बजे तक 75.06 फीसदी मतदान हुआ है।

इसे भी पढ़ें: नोएडा में कोविड-19 से 136 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए, पृथक-वास में रखा गया

इस चरण में तृणमूल कांग्रेस, बसपा और भाजपा ने 11-11 उम्मीदवार उतारे हैं जबकि माकपा चार सीटों पर, कांग्रेस तीन सीटों पर, एआईएफबी दो सीटों पर तथा आरएसपी एक सीट पर चुनाव लड़ रही है। मुकाबले में चार निर्दलीय उम्मीदवार भी हैं। पश्चिम बंगाल समेत देश में कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी के कारण रोड शो और वाहनों की रैलियों पर पाबंदी लगाए जाने के कारण विभिन्न दलों ने अधिकतम 500 भागीदारों के साथ छोटी-छोटी रैलियां की या डिजिटल तरीके से सभा का आयोजन किया गया। चुनाव आयोग ने कोविड-19 के सुरक्षा नियमों का पालन नहीं करने के लिए कई उम्मीदवारों के खिलाफ मामला दर्ज कराया और उन्हें कारण बताओ नोटिस भेजे गए हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।