चंद्रशेखर ने साधा केंद्र सरकार पर निशाना, CAA और NRC को लेकर झूठ फैलाया जा रहा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 25, 2020   11:02
चंद्रशेखर ने साधा केंद्र सरकार पर निशाना, CAA और NRC को लेकर झूठ फैलाया जा रहा

उत्तरी बिहार के इस शहर में एक रैली को संबोधित करते हुए आजाद ने लोगों से “लगातार और शांतिपूर्ण प्रदर्शन” करते रहने का अनुरोध किया और कहा कि दिल्ली के शाहीन बाग में महिलाओं द्वारा किये जा रहे प्रदर्शन से प्रेरणा लें।

मुजफ्फरपुर (बिहार)। भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने शुक्रवार को केंद्र में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि वह संशोधित नागरिकता कानून (सीएए), राष्ट्रीय जनसंख्या पंजी (एनपीआर) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) पर “झूठ को हवा” दे रही है। उत्तरी बिहार के इस शहर में एक रैली को संबोधित करते हुए आजाद ने लोगों से “लगातार और शांतिपूर्ण प्रदर्शन” करते रहने का अनुरोध किया और कहा कि दिल्ली के शाहीन बाग में महिलाओं द्वारा किये जा रहे प्रदर्शन से प्रेरणा लें। उन्होंने कहा, “मैं देश भर के लोगों को बताना चाहूंगा कि वे इस लड़ाई में अकेले नहीं हैं। भीम आर्मी उनके साथ खड़ी है।” 

भीम आर्मी के प्रमुख ने नरेंद्र मोदी सरकार पर सीएए को लाकर “देश की एकता व अखंडता” को चोट पहुंचाने का आरोप लगाया जो “धर्म के आधार पर नागरिकों में भेदभाव करता है।” उन्होंने कहा कि एनपीआर को एनआरसी के पूर्वगामी के तौर पर देखा जा रहा है जिसका “इस्तेमाल लोगों को नागरिकता से वंचित करने” के लिये हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: सुमित्रा महाजन बोलीं, धरना-प्रदर्शनों के जरिये CAA को नहीं कराया जा सकता निरस्त

आजाद ने कहा, “सरकार यह कहकर झूठ को हवा दे रही है कि यह कानून हितकारी है और इसका उद्देश्य नागरिकता देना है लेना नहीं, और यह दावा कर राष्ट्र को गुमराह कर रहे हैं कि यह एनआरसी से जुड़ी नहीं है। ये सभी उपाय आम आदमी को नुकसान पहुंचाएंगे।” आंबेडकरवादी नेता ने शुक्रवार को समाजवादी नेता कर्पूरी ठाकुर की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।