सीबीआई ने धनबाद न्यायाधीश की मौत की जांच कर रही टीम में बदलाव किया

CBI
अधिकारियों ने कहा कि टीम का नेतृत्व अब पुलिस अधीक्षक विकास कुमार करेंगे, जो दिल्ली में एजेंसी की विशेष अपराध इकाई में तैनात हैं। उन्होंने बताया कि वह पहले ही वी के शुक्ला से जांच का कार्य ले चुके हैं।

नयी दिल्ली| केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने झारखंड के धनबाद के न्यायाधीश उत्तम आनंद की मौत के मामले की जांच कर रही टीम को बदल दिया है। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। झारखंड उच्च न्यायालय ने हाल में हत्या की जांच में‘‘ढिलाई’’ के लिए जांच एजेंसी को फटकार लगाई थी।

अदालत ने यह भी कहा था कि ऐसा प्रतीत होता है कि सीबीआई जांच छोड़ने और आरोपियों को बचाने का प्रयास कर रही है।

जांच एजेंसी ने इसके बाद यह निर्णय किया है। अधिकारियों ने कहा कि टीम का नेतृत्व अब पुलिस अधीक्षक विकास कुमार करेंगे, जो दिल्ली में एजेंसी की विशेष अपराध इकाई में तैनात हैं। उन्होंने बताया कि वह पहले ही वी के शुक्ला से जांच का कार्य ले चुके हैं।

उन्होंने कहा कि नई टीम धनबाद पहुंच चुकी है, जहां उन्होंने दो आरोपियों लखन वर्मा और राहुल वर्मा से पूछताछ करने के लिए अदालत की अनुमति मांगी, जिनके खिलाफ आरोप पत्र दायर किया गया है और उन्हें जिला जेल में रखा गया है। उच्च न्यायालय ने सीबीआई को गिरफ्तार दो आरोपियों के नार्को टेस्ट की रिपोर्ट पेश करने का आदेश दिया था।

इसने कहा था कि इसमें बड़ी साजिश है और इसका खुलासा होना चाहिए। अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई ने पिछले साल अक्टूबर में ऑटो-रिक्शा चालक लखन वर्मा और उसके साथी राहुल वर्मा के खिलाफ भादंवि की धाराओं के तहत हत्या (302) और सबूत नष्ट करने (201) के अलावा धारा 34 के तहत आरोप पत्र दायर किया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़