• चिदंबरम बोले- पहले जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा मिले और फिर हो चुनाव

अंकित सिंह Jun 25, 2021 15:33

बैठक में शामिल लगभग सभी नेताओं ने जम्मू कश्मीर को फिर से पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग की और वहां चुनाव कराने का भी आग्रह किया। इन सबके बीच पूर्व कृषि मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने अपनी राय रखी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में गुरुवार को जम्मू कश्मीर को लेकर सर्वदलीय बैठक हुई। बैठक में मुख्य रूप से जम्मू कश्मीर में लोकतंत्र को फिर से बहाल करने को लेकर चर्चा हुई। साथ ही साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बात पर भी जोर दिया कि दिल्ली और कश्मीर की दूरी किसी भी तरह से कम हो। बैठक में शामिल लगभग सभी नेताओं ने जम्मू कश्मीर को फिर से पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग की और वहां चुनाव कराने का भी आग्रह किया। इन सबके बीच पूर्व गृह मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने अपनी राय रखी है।

चिदंबरम ने कहा कि यह अजीबो-गरीब बात है कि केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर में पहले चुनाव कराना चाहती है और फिर पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल करना चाहती है। चिदंबरम ने ट्वीट किया, ‘‘कांग्रेस और जम्मू-कश्मीर की दूसरी पार्टियां एवं नेता पहले पूर्ण राज्य का दर्जा चाहते हैं और फिर चुनाव चाहते हैं। सरकार का जवाब है कि पहले चुनाव और फिर पूर्ण राज्य का दर्जा दिया जाएगा।’’ चिदंबरम ने कहा, ‘‘घोड़ा गाड़ी को खींचता है। पूर्ण राज्य में चुनाव कराना चाहिए। इस स्थिति में ही चुनाव निष्पक्ष और स्वतंत्र होंगे। सरकार क्यों चाहती है कि गाड़ी आगे हो जाए और घोड़ा पीछे। यह अजीबो-गरीब बात है।’’ 

इसे भी पढ़ें: चीता ने दूसरी बार मौत को दिया चकमा, गोली लगने के बावजूद आतंकियों का कर चुके हैं खात्मा

पिछले लगभग दो साल में पहली बार जम्मू-कश्मीर के राजनीतिक नेतृत्व के साथ वार्ता का हाथ बढ़ाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस केंद्र-शासित प्रदेश के भविष्य की रणनीति का खाका तैयार करने के लिए बृहस्पतिवार को वहां के 14 नेताओं के साथ एक अहम बैठक की। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के अधिकांश प्रावधान निरस्त किए जाने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभाजित किए जाने के बाद यह पहली ऐसी बैठक थी जिसकी अध्यक्षता खुद प्रधानमंत्री मोदी ने की।