अरुणाचल प्रदेश में घुसकर चीनी सेना ने 17 साल के युवक को किया अगवा, सांसद ने मांगी मदद

अरुणाचल प्रदेश में घुसकर चीनी सेना ने 17 साल के युवक को किया अगवा, सांसद ने मांगी मदद

चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सियांग जिले से एक 17 वर्षीय लड़के का अपहरण कर लिया है, राज्य के सांसद तपीर गाओ ने बुधवार को एक ट्वीट के माध्यम से इस बात की जानकारी दी।

अरुणाचल प्रदेश। चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सियांग जिले से एक 17 वर्षीय लड़के का अपहरण कर लिया है, राज्य के सांसद तपीर गाओ ने बुधवार को एक ट्वीट के माध्यम से इस बात की जानकारी दी। तपीर गाओ ने कहा कि किशोरी की पहचान मिराम तारन के रूप में की गई है, जिसे पीएलए ने मंगलवार को सियुंगला क्षेत्र के लुंगटा जोर इलाके से अपहरण कर लिया था।

इसे भी पढ़ें: भारत के खिलाफ साजिश रचने वाले किसी भी यूट्यूब चैनल, वेबसाइट को ब्लॉक कर दिया जाएगा: ठाकुर

चीन ने सीमा पर किया 17 साल के युवक का अपहरण

अरुणाचल प्रदेश से सांसद तापिर गाओ ने बुधवार को कहा कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने राज्य में भारतीय क्षेत्र के अपर सियांग जिले से 17 वर्षीय एक किशोर का अपहरण कर लिया है। गाओ ने कहा कि अपहृत किशोर की पहचान मिराम तरोन के रूप में हुई है। उन्होंने कहा कि चीनी सेना ने सियुंगला क्षेत्र के लुंगता जोर इलाके से किशोर का अपहरण किया। सांसद ने लोअर सुबनसिरी जिले के जिला मुख्यालय जिरो से फोन पर पीटीआई-से कहा कि पीएलए से बचकर भागने में कामयाब रहे तरोन के मित्र जॉनी यइयिंग ने स्थानीय अधिकारियों को अपहरण के बारे में जानकारी दी।

इसे भी पढ़ें: Lata Mangeshkar Health | डॉक्टर ने कहा, लता मंगेशकर के लिए कामना कीजिए, 12 दिन से ICU में भर्ती

भारत सरकार से की युवक की जान बचाने की अपील 

उन्होंने बताया कि दोनों किशोर जिडो गांव के रहनेवाले हैं। सांसद ने कहा कि यह घटना उस स्थान के पास हुई, जहां शियांग नदी अरुणाचल प्रदेश में भारत में प्रवेश करती है। इससे पहले गाओ ने ट्वीट कर मंगलवार को किशोर के अपहरण के बारे में जानकारी साझा की। उन्होंने ट्वीट के साथ अपहृत किशोर की तस्वीर साझा की और कहा, भारत सरकार की सभी एजेंसियों से किशोर की जल्द रिहाई सुनिश्चित करने का अनुरोध है। गाओ ने यह भी कहा कि उन्होंने इस घटना के बारे में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री निशीथ प्रमाणिक को सूचित किया है।

दोस्तों ने दी थी अपहरण की जानकारी 

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, भागने में सफल रहे टैरॉन के दोस्त जॉनी यायिंग ने पीएलए द्वारा अपहरण की जानकारी अधिकारियों को दी। दोनों स्थानीय शिकारी हैं और जिदो गांव के रहने वाले हैं। तपीर गाओ ने कहा कि घटना उस स्थान के पास हुई जहां त्सांगपो नदी अरुणाचल प्रदेश में भारत में प्रवेश करती है। सांगपो को अरुणाचल प्रदेश में सियांग और असम में ब्रह्मपुत्र कहा जाता है।

भारत और चीन के बीच गतिरोध जारी 

गाओ ने यह भी कहा कि उन्होंने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री निसिथ प्रमाणिक को घटना से अवगत करा दिया है और उनसे इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई करने का अनुरोध किया है। गाओ ने अपने ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भारतीय सेना को टैग किया। सितंबर 2020 में, PLA ने अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सुबनसिरी जिले से पांच युवकों का अपहरण कर लिया था और लगभग एक सप्ताह के बाद उन्हें रिहा कर दिया था। ताजा घटना ऐसे समय में आई है जब भारतीय सेना अप्रैल 2020 से पूर्वी लद्दाख में पीएलए के साथ गतिरोध में लगी हुई है। भारत लद्दाख से अरुणाचल प्रदेश तक चीन के साथ 3,400 किलोमीटर लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) साझा करता है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।