अब कर्नाटक में भी चलेगा बुलडोजर? CM बोम्मई का सख्त संदेश- अशांति न फैलाएं, जरूरत पड़ी तो लागू करेंगे 'योगी मॉडल'

CM Bommai
prabhasakshi
अभिनय आकाश । Jul 28, 2022 7:35PM
बोम्मई ने कहा कि उत्तर प्रदेश की स्थिति के लिए योगी (आदित्यनाथ) सही मुख्यमंत्री हैं। इसी तरह, कर्नाटक में स्थिति से निपटने के लिए अलग-अलग तरीके हैं और उन सभी का इस्तेमाल किया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश में सूबे को हिंसा की आग में झोंकने वालों और दंगाईयों के खिलाफ योगी आदित्यनाथ सरकार का बुलडोजर अभियान बेहद ही चर्चित रहा है। जिसकी वजह से उन्हें बुलडोजर बाबा की भी संज्ञा दी जाने लगी। योगी फॉर्मूले की चर्चा का आलम ये है कि अब दूसरे राज्य भी इसे अडॉप्ट करने लगे है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा है कि यदि जरूरत पड़ी तो यूपी के योगी मॉडल को कर्नाटक में भी लागू किया जाएगा। सरकार देश विरोधी और सांप्रदायिक तत्वों से निपटने के लिए दक्षिणी राज्य में भी योगी मॉडल लागू कर सकती है। यानी यहां भी सरकारी संपत्ति के नुकसान की भरपाई के लिए बुलडोजर दौड़ सकता है।

इसे भी पढ़ें: भाजपा युवा मोर्चा के सदस्य की हत्या के बाद कर्नाटक में तनाव, भारी मन से पत्नी ने कहा- किसी और के साथ नहीं होना चाहिए ऐसा

भाजपा के युवा कार्यकर्ता प्रवीण नेट्टारू की हत्या को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं में आक्रोश और विरोध के बाद कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने गुरुवार को कहा कि अगर स्थिति की मांग होती है तो वह "योगी मॉडल" की तर्ज पर कार्रवाई करने के लिए तैयार हैं। बोम्मई ने कहा कि उत्तर प्रदेश की स्थिति के लिए योगी (आदित्यनाथ) सही मुख्यमंत्री हैं। इसी तरह, कर्नाटक में स्थिति से निपटने के लिए अलग-अलग तरीके हैं और उन सभी का इस्तेमाल किया जा रहा है। अगर स्थिति की मांग होती है, तो कर्नाटक सरकार भी योगी मॉडल चलाएगी। 

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक में युवा नेता के मर्डर मामले में दो गिरफ्तार, हत्या का मकसद जानने में जुटी पुलिस

उनके अनुसार, 'योगी मॉडल' उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा राज्य में 'राष्ट्र-विरोधी' गतिविधियों को नियंत्रित करने के लिए कथित तौर पर बुलडोजर के उपयोग जैसे कड़े उपायों को संदर्भित करता है। भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा कुछ सोशल मीडिया पोस्ट में यूपी पुलिस द्वारा गैंगस्टर विकास दुबे मुठभेड़ का भी उल्लेख किया गया और बोम्मई से कर्नाटक में इसे दोहराने का आग्रह किया गया। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़