चुनाव लड़ने के लिए मुख्यमंत्री चन्नी को बेचनी पड़ी हैं प्रॉपर्टी, बोले- क्या पठानकोट का बदला लिया गया मुझसे

Charanjit Singh Channi
प्रतिरूप फोटो
अनुराग गुप्ता । Feb 15, 2022 11:53AM
हेलीकॉप्टर को उड़ान भरने की इजाजत नहीं मिलने के मामले में मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि जब किसी को (आतंकवादी) लगता है तभी बोलता है। प्रधानमंत्री का हम सम्मान करते हैं, उन पर अगर कोई आंच आएगी तो हमारी छाती पहले होगी। पंजाब ने बहुत कुर्बानियां दी हैं, देश की रक्षा में हमेशा अपना खून दिया है।

चंडीगढ़। पंजाब में विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों की रैलियां तेज हो गई हैं। इसी बीच मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने प्रदेश कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू को अपना भाई बताया। मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि भगवंत मान 12वीं पास है, उसमें भी उसने 3 साल लगाए हैं। कोई क्वालिफिकेशन भी तो चाहिए। कल को कितनी फाइलें देखनी हैं। केजरीवाल हरियाणा से हैं और दिल्ली के मुख्यमंत्री हैं और हमारा हरियाणा से पानी का विवाद है। 

इसे भी पढ़ें: दिलचस्प होगा मजीठा में सियासी संग्राम, शिअद-कांग्रेस के बीच होती रही है कांटे की टक्कर 

चुनाव लड़ने के लिए बेचनी पड़ी प्रॉपर्टी

उन्होंने कहा कि साल 2002 से मैंने कुछ प्रॉपर्टी का काम किया था और 2006 में 10 एकड़ बना लिया था। मैंने तीन चुनाव लड़े हैं और सब बेच दिया है। अब मेरे पास एक एकड़ भी नहीं है। हर चुनाव में प्रॉपर्टी बेचनी पड़ी है, यह लोग हर चुनाव में बनाते हैं और मुझे बेचना पड़ा है। मैंने तीन चुनाव विधानसभा के लड़े हैं, तीन एमसी के लडे हैं, स्कूल और कॉलेज में चुनाव लड़ा है। मेरे पास प्रॉपर्टी कम हुई है ज्यादा नहीं हुई है।

गोलकीपर रहे हैं चन्नी 

हिन्दी न्यूज चैनल आज तक के चुनावी कार्यक्रम 'पंचायत पंजाब' में कहा कि चन्नी ने कहा कि मैं हैंडबॉल का प्लेयर रहा हूं और गोलकीपर था। तीन बार हमने पंजाब विश्वविद्यालय की तरफ से 3 बार गोल्ड मेडल जीता और नेशनल भी खेला। गोलकीपर हैंडबॉल में गोल भी बचाता है औऱ टीम को आगे खेलने का मौका देता है और पीछे से बॉल फेंककर हर किसी जगह को जगह देता है जिससे गोल हो सके। ऐसे में हम गोल करना भी जानते हैं और रोकना भी। 

इसे भी पढ़ें: CM चन्नी के हेलीकॉप्टर को नहीं मिली उड़ान भरने की इजाजत तो केंद्र सरकार पर बरसे सुनील जाखड़, कही यह बात 

सिद्धू के साथ चले घमासान पर उन्होंने कहा कि मैंने अपने लिए किसी से बातचीत नहीं की और पार्टी के भीतर किसी से लड़ाई भी नहीं है। पहली बार तो मैंने अपने लिए मांगा ही नहीं था, इस बार मेरा नाम था इसलिए कह दिया था कि पार्टी जिसको भी मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनाएगी मैं उसके साथ हूं और सिद्धू साहब ने भी यही कहा था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का कार्यकर्ता ही सुपर सीएम होंगे, मैं तो सिर्फ एक चेहरा हूं, लड़ाई कार्यकर्ता लड़ते हैं और सरकार भी वही चलाएंगे।

भगवंत मान की सर्कस वाली टिप्पणी पर उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी अगर सर्कस है तो उसमें एक बंदर का रोल है, जो भी करना चाहे कर ले। वो कहीं से भी आएं उनका स्वागत है। इसी बीच हेलीकॉप्टर को उड़ान भरने की इजाजत नहीं मिलने के मामले में उन्होंने कहा कि जब किसी को (आतंकवादी) लगता है तभी बोलता है। प्रधानमंत्री का हम सम्मान करते हैं, उन पर अगर कोई आंच आएगी तो हमारी छाती पहले होगी। 

इसे भी पढ़ें: पंजाब 2022: बदलाव की मांग के साथ चुनावी मैदान में उतरी डॉक्टर, बोलीं- सभी एक जैसे हैं 

पंजाब ने दी हैं बहुत कुर्बानियां 

उन्होंने कहा कि पंजाब ने बहुत कुर्बानियां दी हैं, देश की रक्षा में हमेशा अपना खून और अन्न दिया है। हमसे क्या दिक्कत है। अगर प्रधानमंत्री जी दोआबा में आ रहे हैं तो मुझे दोआबा और मांझा में जाने से रोक दिया गया तो स्वभाविक है कि मैं कुछ-न-कुछ बोलूंगा। फिर उन्होंने बोला कि मेरा भी पठानपुर से जहाज रोका गया था तो क्या वो बदला ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि पंजाबी देश के साथ खड़ा है और उन्हें दबाया नहीं जा सकता है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़