प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष पेश हुई कांग्रेस नेता शिवकुमार की बेटी

congress-leader-shivkumar-daughter-appears-before-enforcement-directorate
ऐश्वर्या अपने पिता के शैक्षिक ट्रस्ट में न्यासी हैं। उन्होंने बताया कि इस ट्रस्ट के पास करोड़ों रुपये की संपत्ति और कारोबार है और यह कई इंजीनियरिंग तथा अन्य कॉलेजों का संचालन करता है। ऐश्वर्या इनके पीछे मुख्य शख्स है। कांग्रेस नेता और कर्नाटक के पूर्व कैबिनेट मंत्री को तीन सितंबर को ईडी ने गिरफ्तार किया था और वह एजेंसी की हिरासत में हैं।

नयी दिल्ली। कर्नाटक कांग्रेस के नेता डी के शिवकुमार की बेटी ऐश्वर्या अपने पिता के खिलाफ धन शोधन के मामले की जांच के संबंध में बृहस्पतिवार को यहां प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष पेश हुई। अधिकारियों ने बताया कि प्रबंधन विषय से स्नातक पास 22 वर्षीय ऐश्वर्या से पूछताछ की जाएगी और उसका बयान धन शोधन निरोधक कानून के तहत दर्ज किया जाएगा।  उन्होंने बताया कि उससे सिंगापुर यात्रा के संबंध में शिवकुमार द्वारा पेश किए दस्तावेजों और बयानों को लेकर पूछताछ की जाएगी। शिवकुमार ने अपनी बेटी के साथ 2017 में सिंगापुर की यात्रा की थी।

इसे भी पढ़ें: धनशोधन मामले में अब ED ने डीके शिवकुमार की पुत्री को भेजा समन

ऐश्वर्या अपने पिता के शैक्षिक ट्रस्ट में न्यासी हैं। उन्होंने बताया कि इस ट्रस्ट के पास करोड़ों रुपये की संपत्ति और कारोबार है और यह कई इंजीनियरिंग तथा अन्य कॉलेजों का संचालन करता है। ऐश्वर्या इनके पीछे मुख्य शख्स है। कांग्रेस नेता और कर्नाटक के पूर्व कैबिनेट मंत्री को तीन सितंबर को ईडी ने गिरफ्तार किया था और वह एजेंसी की हिरासत में हैं। केंद्रीय एजेंसी ने पिछले साल सितंबर में शिवकुमार, नयी दिल्ली में कर्नाटक भवन के कर्मचारी हनुमनतैया और अन्यों के खिलाफ धन शोधन का मामला दर्ज किया था। आयकर विभाग ने कथित कर चोरी और हवाला लेनदेन के लिए बेंगलुरु की एक अदालत में शिवकुमार और अन्यों के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया था जिसके आधार पर आपराधिक मामला दायर किया गया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़